रेल यात्रियों के लिए खुशखबरी! कम हो गया ट्रेन का किराया, अब जेब का बोझ होगा कम…..

Railway Minimum Fare : रेलवे द्वारा यात्रियों को हर तरह की सुविधा दी जा रही है और इन सुविधाओं को बढ़ाने के लिए वह हर प्रयास कर रहा है। पिछले कुछ सालों ने रेल मंत्रालय ने रेलवे (Railway) में इंफ्रास्ट्रक्चर में तेजी से बदलाव किया है। हर रोज रेलवे से 2 करोड़ से भी अधिक यात्री सफर करते हैं। अब इन यात्रियों को रेलवे ने एक बड़ी खुशखबरी देते हुए नया फैसला लिया है। दरअसल रेलवे ने अब मिनिमम किराए की सीमा कम कर दी है।

रेलवे ने पिछले तीन सालों में मिनिमम किराया ₹10 से बढ़कर ₹30 कर दिया था। इस तरह मिनिमम किराए में एक तिहाई की बढ़ोतरी हो गई थी लेकिन अब रेलवे (Railway) ने फिर फैसला लेते हुए इसे कम कर दिया है। रेलवे मंत्रालय ने अब ट्रेन का मिनिमम किराया ₹10 कर दिया है। न्‍यूनतम क‍िराया (Minimum Fare) बढ़ने से यात्र‍ियों को एक स्‍टेशन से दूसरे स्‍टेशन तक जाने के ल‍िए भी 30 रुपये का भुगतान करना होता था।

कोरोना से पहले था 10 रुपये मिनिमम किराया

ट्रेन का मिनिमम किराया बढ़ जाने के कारण कई बार लोगों को एक्सप्रेस ट्रेन में सफर करना पड़ता था। रेलवे बोर्ड (Railway Board) की तरफ से ल‍िये गए इस फैसले का फायदा दिल्ली-एनसीआर समेत देश के लाखों डेली पैसेंजर को होगा। रेलवे (Railway) का सफर काफी आरामदायक और सस्ता होता है। इसीलिए हर रोज लाखों करोड़ों लोग इसमें सफ़र करते हैं। साल 2020 में महामारी कोरोना के आने से पहले ट्रेन का न्यूनतम किराया ₹10 था।

लेकिन कोरोना के बाद ट्रेनों का संचालन किया गया तो न्यूनतम किराया (Minimum Fare) बढ़ाकर ₹30 कर दिया गया था। किराया बढ़ जाने के कारण पहले के मुकाबले अब यात्रियों को तीन गुना ज्यादा किराया देना पड़ता था।

यात्री संगठनों ने की थी मांग

इसलिए कई बार यात्री संगठनों ने रेलवे (Railway) से न्यूनतम किराया कम करने की बात कही है। लोकल टिकट बुक‍िंग ऐप, सॉफ्टवेयर और यूटीएस ऐप में भी घटाए गए क‍िराये से जुड़ी जानकारी को अपडेट कर दिया गया है। अब रेलवे मंत्रालय (Railway Ministry) के नए फैसले के बाद न्यूनतम किराया ₹10 ही हो गया है। कोरोना कल के बाद लोकल गाड़ियों का संचालन बंद हो गया था और उसे समय मेल और एक्सप्रेस ट्रेन नहीं चलती थी जिनका मिनिमम किराया ₹30 था। लेकिन अब लोकल गाड़ियों के परिचालन से न्यूनतम किराया ₹10 कर दिया गया है।