Indian Navy को मिलने वाले हैं 6 हॉक हेलीकॉप्टर, अब बढ़ेगी सेना की ताकत, जानिए – खासियत….

भारतीय नौसेना अब समंदर के अंदर ही पनडुब्बियों को खोज कर उन्हें मार गिराने वाली है। दरअसल भारतीय नौसेना की ताकत आने वाले समय में और बढ़ने जा रही है। भारतीय नौसेना के खेमे में अब MH 60R हेलीकॉप्टर को मिलाया जा रहा है। जिसे की रोमियो हेलीकॉप्टर भी कहा जाता है।

इस हेलीकॉप्टर के नौसेना में आने से समुद्री तट पर भारत की ताकत और भी ज्यादा बढ़ जाएगी। आपको बता दे कि यह हेलीकॉप्टर भारतीय नौसेना में 6 मार्च को शामिल किया जाएगा। जिससे कि स्वदेशी विमान वाहक युद्धपोत IAC Vikrant की ताकत और भी ज्यादा बढ़ जाएगी।

आपकी जानकारी के लिए बता दे कि इस हेलिकॉप्टर को अमेरिका की स्कोरस्की एयरक्राफ्ट कंपनी ने तैयार किया है। इस हेलीकॉप्टर के कुल पांच वेरिएंट है। एक्सपोर्ट क्वालिटी के हिसाब से इनमें बदलाव भी किया जा सकता है। इस हेलीकॉप्टर का उपयोग हमला करने, निगरानी, जासूसी, सबमरीन खोजने, वीआईपी मूवमेंट या उसे बर्बाद करने में किया जाता है। इस हेलिकॉप्टर पर कई प्रकार के सेंसर और रडार लगे हुए हैं। जो की दुश्मन के हर हमले की छोटी से छोटी जानकारियां प्रदान करते हैं। इस हेलिकॉप्टर को उड़ाने के लिए 3 से 4 क्रू मेंबर्स की आवश्यकता होती है तथा इसमें पांच लोग बैठ सकते हैं।

वजन और इंजन

इस हेलीकॉप्टर का अधिकतम टेक ऑफ वजन 10,433 किलोग्राम है। लंबाई की बात की जाए तो इसकी लंबाई 64.8 फिट और ऊंचाई 17.33 फीट है। यह रोमियो हेलीकॉप्टर एक बार में 830 किलोमीटर तक जा सकता है तथा अधिकतम 12000 फीट की ऊंचाई तक उड़ सकता है।

इस हेलीकॉप्टर के सीधे उठने की गति 1650 फीट प्रति मिनट है तथा यह अधिकतम 270 किलोमीटर की गति से उड़ सकता है। हालांकि इस गति को बड़ा कर 330 किलोमीटर प्रति घंटे तक भी ले जाया जा सकता है। इसमें दो जनरल इलेक्ट्रिक के टर्बोशेफ्ट इंजन लगे हुए हैं जो की 1410×2 किलोवाट की टेकऑफ के समय ताकत पैदा करते हैं। इस पर लगे पंखे का व्यास 53.5 फिट है।

बता दे कि इस हेलिकॉप्टर पर कई प्रकार के हथियार लगाए जा सकते हैं। जिनमें दो मार्क 46 टारपीडो या MK 54s या MK 50 हथियार लगाए जा सकते हैं। इसके अतिरिक्त इसमें 4 से 8AGM 114 Hellfire Missile भी लगाया जा सकता है। वहीं दुश्मनों पर ताबड़तोड़ गोलियां बरसाने के लिए इस हेलिकॉप्टर पर चार प्रकार की हैवी मशीन गन भी लगाई जा सकती है। इसके अतिरिक्त इसमें 30 मिली मीटर की टॉप और रैपिड एयरबॉर्न माइन क्लीयरेंस सिस्टम भी लगाया जा सकता है।

इन देशों की नौसेना के पास है MH 60R

MH 60R वर्जन एक एंटी सबमरीन वर्जन है। 1979 से लेकर अब तक 938 हेलीकॉप्टर बन चुके हैं। अमेरिकी नौसेना, तुर्की की नौसेना, हेलिएनिक नौसेना और ऑस्ट्रेलिया नौसेना भी इसका उपयोग कर रही है। भारतीय नौसेना में इसका इस्तेमाल हिंद सागर क्षेत्र में दुश्मन के पनडुब्बियों को खोजने और उनसे लड़ने के लिए किया जाएगा।