31 January 2023

ऑटो ड्राइवर का बेटा Team India में मचा रहा धूम, जानें- गली क्रिकेट से Mohamed Siraj कैसे बना करोड़पति..

ऑटो ड्राइवर का बेटा Team India में मचा रहा धूम, जानें- गली क्रिकेट से Mohamed Siraj कैसे बना करोड़पति.. 1

Mohamed Siraj : देश में कई ऐसी बड़ी हस्तियां हैं जिन्होंने गरीबी का कलेजा चीर कर सफलता हासिल की है। इसमें एक नाम स्टार बॉलर मोहम्मद सिराज (Mohamed Siraj) का है। मोहम्मद सिराज ने IPL अपना नाम बनाया है। आज जब भी किसी धमाकेदार बॉलर का जिक्र होता है तो मोहम्मद सिराज (Mohamed Siraj) का नाम लोग शीर्ष में लेते हैं। IPL के इस स्टार बॉलर कर जन्मदिन है। इस अवसर पर हम आपके लिए इनके संघर्ष से जुड़ी कई अपरिचित बातें लेकर आएं है, जो काफी प्रेरणादायक है।

पहली कमाई मात्र 500 रूपये : मोहम्मद सिराज (Mohamed Siraj) ने क्रिकेट के माध्यम से पहली कमाई 500 रुपये की थी। इस बात का खुलासा खुद सिराज ने आईपीएल 2017 के लिए हुई नीलामी के दौरान किया था। सिराज ने कहा था, ‘क्रिकेट से मेरी पहली कमाई 500 रुपये थी। था। मैं एक क्लब मैच खेल रहा था और मेरे मामा टीम के कप्तान थे। 25 ओवर के उस मैच में मैंने 20 रन देकर 9 विकेट लिए थे। मेरे प्रदर्शन से खुश होकर मामा ने मुझे इनाम के तौर पर 500 रुपये दिए।

पिता थे ऑटो ड्राइवर : मोहम्मद सिराज (Mohamed Siraj) के पिता हैदराबाद में ऑटो चलाते थे। आईपीएल-2017 में चुने जाने के बाद उन्होंने अपने पिता को आराम करने के लिए कहा था। आईपीएल की कमाई से सिराज ने नया घर भी खरीद लिया है, जहां अब वे अपने परिवार के साथ रहते हैं।

IPL ने बदली किस्मत : मोहम्मद सिराज ने 2017 के आईपीएल सीजन में डेब्यू किया था। उस सीजन में सनराइजर्स हैदराबाद की टीम ने उन्हें 2.60 करोड़ रुपये में खरीदा था। इसके बाद साल 2018 में हुई आईपीएल नीलामी में भी सिराज 2.6 करोड़ रुपये में बिके थे। इस सीजन के लिए उन्हें विराट कोहली की कप्तानी वाली रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर टीम ने खरीदा है। मोहम्मद सिराज ने अपने करियर में दो टी20 इंटरनैशनल मैच खेले हैं। जिसमें उन्होंने 2 विकेट लिए हैं।

IT इंजीनियर हैं बड़े भाई : सिराज के परिवार में माता-पिता के अलावा एक बड़ा भाई भी है। एक इंटरव्यू में सिराज ने बताया था कि मेरे परिवार ने काफी मुश्किल दिन देखे हैं। ‘मेरे पिता ने बहुत मेहनत करके और कम कमाई के बावजूद परिवार को अच्छी तरह से चलाया। उन्होंने हमें कोई कमी महसूस नहीं होने दी।