9 February 2023

माता-पिता से लेकर बेटा, बेटी और दामाद तक, जानें – Sharad Yadav के परिवार में कौन-कौन है..

Sharad Yadav Family

Sharad Yadav Family : पूर्व केंद्रीय मंत्री और राजद नेता शरद यादव Sharad Yadav) का गुरुवार को 75 साल की उम्र में निधन हो गया है. गुरुवार को उनकी तबियत खराब होने के बाद उन्हें फोर्टिस अस्पताल में भर्ती किया गया था. बता दें शरद यादव (Sharad Yadav) लंबे समय से किडनी की बीमारी से परेशान थे. शरद यादव जदयू के पूर्व अध्यक्ष के साथ 7 बार लोकसभा के सांसद भी चुने गए है. शरद यादव गैर-कांग्रेसी सरकारों में सत्ता की धुरी भी माने जाते है.

इंजीनियरिंग में गोल्ड मेडल थे शरद यादव : शरद यादव का जन्म मध्य प्रदेश के होशांगाबाद में जुलाई 1947 में बबाई गांव में हुआ था। उन्होंने साल 1964 में जबलपुर के साइंस कॉलेज से बीएससी करने के बाद साल 1970 में कॉलेज ऑफ इंजीनियरिंग जबलपुर से इंजीनियरिंग की डिग्री हासिल की थी. वहीं इंजीनियरिंग की पढ़ाई में उन्हें गोल्ड मेडल भी मिला था. इंजीनियर की पढ़ाई करने के दौरान ही वह एक बार कॉलेज के प्रेसिडेंट चुने गए थे. इनके पिता का नाम नंद किशोर यादव था. वह एक किसान थे और मां का नाम सुमित्रा यादव था जो गृहिणी थी. शरद के बड़े भाई का नाम रविशंकर यादव है.

माता-पिता से लेकर बेटा, बेटी और दामाद तक, जानें - Sharad Yadav के परिवार में कौन-कौन है.. 1
माता-पिता से लेकर बेटा, बेटी और दामाद तक, जानें - Sharad Yadav के परिवार में कौन-कौन है.. 6

शरद यादव के परिवार में एक बेटा और एक बेटी हैं : शरद यादव ने रेखा यादव से 1989 में शादी की थी. उनके परिवार में उनकी पत्नी के साथ एक बेटा और एक बेटी है। बेटे का नाम शांतनु बुंदेला है और बेटी का नाम सुभाषिनी राजा राव हैं। उनके बेटे शांतनु ने अपनी पोस्ट ग्रेजुएशन यूनिवर्सिटी ऑफ लंदन से की है।

हम बात करें शरद यादव की बेटी का तो वह राजनीति में काफी एक्टिव हैं। 2020 में बिहार के विधानसभा चुनाव में सुभाषिनी कांग्रेस की टिकट से बिहारीगंज विधानसभा सीट से चुनाव भी लड़ चुकी है. लेकिन वह इस सीट से चुनाव हार गईं थीं.

माता-पिता से लेकर बेटा, बेटी और दामाद तक, जानें - Sharad Yadav के परिवार में कौन-कौन है.. 2

पिता की विरासत को सुभाषिनी बढ़ा रही हैं आगे: सुभाषिनी को राहुल गांधी और प्रियंका गांधी का बेहद करीबी माना जाता है। उनकी शादी हरियाणा के एक राजनीतिक परिवार में हुई है।

माता-पिता से लेकर बेटा, बेटी और दामाद तक, जानें - Sharad Yadav के परिवार में कौन-कौन है.. 3

मिली जानकारी के मुताबिक सुभाषिनी ने 2020 में कांग्रेस पार्टी ज्वाइन की। सुभाषिनी ही अपने पिता कि राजनीतिक विरासत को आगे बढ़ा रही हैं। शरद यादव की जन्मभूमि भले ही मध्य प्रदेश थी लेकिन उनकी कर्मभूमि बिहार मानी जाती है.

माता-पिता से लेकर बेटा, बेटी और दामाद तक, जानें - Sharad Yadav के परिवार में कौन-कौन है.. 4