PM Modi ने किया देश के सबसे लंबे केबल ब्रिज का उद्घाटन, जानें – सुदर्शन सेतु की खासियत…..

Sudarshan Setu Bridge :देश के अलग-अलग कोनों में विकास संबंधी अनेक कार्य किये जा रहे हैं। ऐसे में कनेक्टिविटी पर खास ध्यान दिया जा रहा है। इसके लिए कई राज्यों में ग्लास ब्रिज से लेकर केबल ब्रिज तक का निर्माण किया गया है। इन पुलों के निर्माण से लोगों की कनेक्टिविटी बढ़ने के साथ-साथ इलाके की खूबसूरती भी बढ़ती नजर आ रही है। इसी कड़ी में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुजरात के द्वारका में देश के सबसे लंबे केबल ब्रिज का उद्घाटन किया है। इसका नाम सुदर्शन सेतु है। सुदर्शन सेतु अपने आप में खास है। तो आइए इसके फीचर्स को विस्तार से जानते हैं।

सुदर्शन ब्रिज की विशेषताएं

सुदर्शन सेतु की लंबाई 2.32 किलोमीटर है, जो इसे देश का सबसे लंबा केबल ब्रिज बनाता है। पुल के दोनों किनारों पर श्रीमद्भगवद गीता के श्लोक और भगवान श्री कृष्ण की तस्वीरें हैं। पुल के ऊपरी हिस्से पर सोलर पैनल भी लगे हैं, जिससे एक मेगावाट बिजली का उत्पादन किया जा सकता है।

इस केबल ब्रिज के निर्माण से द्वारका और बीट-द्वारका रोड के बीच यात्रा करने वाले भक्तों के यात्रा समय में काफी कमी आएगी। पुल के बनने से द्वारका से बीट द्वारका जाने वाले पर्यटकों को दिक्कतों का सामना नहीं करना पड़ेगा, क्योंकि पहले उन्हें नाव से बीट द्वारका जाना पड़ता था।

सुदर्शन सेतु से कनेक्टिविटी बढ़ेगी

इससे पहले पीएम मोदी ने 24 फरवरी को ट्विटर पर एक पोस्ट में कहा था कि 25 फरवरी गुजरात के विकास पथ के लिए एक विशेष दिन है। उन्होंने कहा कि उद्घाटन की जाने वाली कई परियोजनाओं में ओखा मुख्य भूमि और बेयट द्वारका को जोड़ने वाला सुदर्शन सेतु भी शामिल है। यह एक अद्भुत परियोजना है जो कनेक्टिविटी को बढ़ाएगी।