Train Brake : कैसे लगाई जाती है रेलगाड़ी में ब्रेक – रुकने में लग जाता है, इतना समय

Train Brake : Indian Railway में रोजाना लाखों यात्री सफर करते हैं। सफर के दौरान ट्रेन कई बार बीच रास्ते में रोक दी जाती है, ट्रेन के रुक जाने में काफी तकलीफ होती है लेकिन क्या आपने कभी ये सोचा है कि ट्रेन में कौनसा ब्रेक सिस्टम काम करता है। ज्यादातर रेलगाड़ियों में एयर ब्रेकिंग सिस्टम होता है। यह ब्रेकिंग सिस्टम हर सोच में मौजूद होता है।

इन ब्रेक को न्यूमैटिक ब्रेक भी कहते हैं, इनको ख़ास तरह के प्रेशर पाइप से जोड़ा जाता है। जब ब्रेक लगाया जाता है तो नार्मल वायुमंडल का 5 गुना दबाव इनमें जाता है। और घर्षण से पहिये की गति धीमी हो जाती है। गति धीमी होने के कारण ही ट्रेन रुक जाती है। यह ब्रेक शीशे की तरह चमकते हैं। यह ब्रेक बाहर से अंदर की तरफ लगाए जाते हैं। इसके अलावा सभी प्रकार की मेमू, डेमू और ईएमयू ट्रेनों में ट्रेड ब्रेक का इस्तेमाल होता है।

कभी कभी रेलगाड़ी को धीमा करने के लिए अतिरिक्त ब्रेकिंग सिस्टम की आवश्यकता होती है। ट्रेन में इमरजेंसी ब्रेक बहुत काम आते हैं, इन ब्रेक से गाड़ी एकाएक रुक जाती है। इन ब्रेक्स को या तो इंजनियर द्वारा मैन्युअल रूप से सक्रिय किया जाता है।