मजदूर की बेटी बनी स्टेट टॉपर, 500 में लाये 496 नंबर, IPS बनने का है सपना

Haryana Board 10th Toppers : कहते हैं इंसान के हौसले से बड़ा कुछ भी नहीं होता है, अगर इंसान चाह ले तो वह कुछ भी कर सकता है फिर चाहे स्थितियां कितनी ही प्रतिकूल क्यों ना हो।इस कथन को सत्य करके दिखाया है हरियाणा के करनाल के निगधू (Nigdhu village Karnal)की ज्योति Nigdu-Jyoti ने, जिनके पिता दिहाड़ी मजदूरी करते हैं लेकिन आर्थिक रूप से कमजोर होने के बावजूद उन्होंने इसे अपना नकारात्मक पहलू नहीं बनने दिया और पूरे स्टेट में तीसरा स्थान हासिल करके लड़कियों के लिए, समाज के लिए और देश के लिए एक प्रेरणा बनने के साथ ही यह भी सिद्ध किया है कि इंसान की हिम्मत के आगे सब कुछ परास्त हो जाता है।

हाल ही में बोर्ड परीक्षाओं के रिजल्ट घोषित हुए, जहां देशभर से सफलताओं की कई कहानियां सामने आई उनमें से एक कहानी दिल छू गई, ये कहानी है हरियाणा के निगधू की ज्योति की जिन्होंने दसवीं में 500 में से 496 अंक हासिल करके अपने परिवार का मान बढ़ाया है।ज्योति ने पूरे राज्य में तीसरा स्थान हासिल किया है।

ज्योति की कहानी इसलिए और भी ज्यादा प्रासंगिक हो जाती है क्योंकि उनके पिता एक साधारण से मजदूर है जो दिहाड़ी में काम करते हैं, लेकिन उन्होंने इस बात की परवाह किए बिना कि मेरे पास किस चीज की कमी है इस बात पर ज्यादा ध्यान दिया कि मेरे पास क्या उपलब्ध।ज्योति कहती हैं कि उनका सपना बड़े होकर एक आईपीएस ऑफिसर बनने का है, ऐसी लड़कियां हमारे समाज के लिए,हमारे देश के लिए एक मिसाल है।ये उन लोगों के लिए प्रेरणा हैं जो हर सुविधा संपन्न होते हुए भी कुछ ना कुछ बहाने देते रहते हैं।

शिक्षा आप को बदल सकती है बशर्ते आप उसकी कीमत को समझें और स्वयं को समर्पित करें किसी भी लक्ष्य के लिए,ज्योति का उदाहरण इस बात का सबूत है जो हर उम्र के युवाओं के लिए एक प्रेरणा स्रोत है , चाहे कितनी भी विपरीत परिस्थितियां हो मेहनत और ईमानदारी से किए गए काम का रिजल्ट आपको जरूर मिलता है भले ही उसमें थोड़ी देर क्यों ना लगे।

Haryana Board 10th Toppers List

  • रैंक 1- हिमेश- भूना, फतेहाबाद- 498 अंक
  • रैंक 1- वर्षा- सिकन्दरपुर माजरा, सोनीपत- 498 अंक
  • रैंक 1- सोनू- बुसान, भिवानी- 498 अंक
  • रैंक 2- सिमरन- बनावली, फतेहाबाद- 497 अंक
  • रैंक 2- दिपेश शर्मा- पलवल- 497 अंक
  • रैंक 2- मानही- नारनौद, हिसार- 497 अंक
  • रैंक 3- शिवानी शर्मा- कावी, पानीपत- 496 अंक
  • रैंक 3- स्वीटी कुमारी- तिरखा कालोनी, फरीदाबाद- 496 अंक
  • रैंक 3- यशी- बसाना, रोहतक- 496 अंक
  • रैंक 3- मोन्टी- मदनहेड़ी, हिसार- 496 अंक
  • रैंक 3- तमन्ना- करहंस, पानीपत- 496 अंक
  • रैंक 3- दिपांशी- उचाना मंडी, जीन्द- 496 अंक
  • रैंक 3- रिया- रेलवे रोड, पलवल- 496 अंक
  • रैंक 3- ज्योति रानी- करनाल- 496 अंक