जाने, बिहार के ये 8 कलाकार शत्रुघ्न सिन्हा से लेकर सुशांत सिंह राजपूत तक, कौन कितना पढ़ा लिखा है

Education Background of Bihar bollywod superstars

डेस्क : आज हम आपको बिहार के वैसे उभरते हुए कलाकार के एजुकेशन के बारे में बताइएगे। जो, बिहारी ही नहीं बल्कि पूरे भारत में अपने नाम का लोहा बनवा चुके हैं। दरअसल, आज हम उन बिहारी कलाकार के एजुकेशन के बारे में बात करने वाले हैं। यह लोग फिल्म इंडस्ट्री के बहुत बड़े चेहरे हैं। और उन्होंने साउथ फिल्म लेकर एक से एक फिल्में बॉलीवुड को मात दी है।

पंकज त्रिपाठी : बिहार के सबसे मशहूर कलाकारों में से एक पहला नाम पंकज त्रिपाठी का आता है। जिनको लोग मिर्जापुर के सबसे टॉप कलाकार कालीन भैया के नाम से जानने लगे हैं। आपको बता दें कि उनका पैतृक जन्म बिहार के गोपालगंज जिले के बेलसंड गांव में हुआ था। इसके साथ ही उन्होंने मगध विश्वविद्यालय से अपना स्नातक भी पूरा किया। इसके बाद उन्होंने कई प्रकार की नौकरियां भी की हैं। लेकिन, उनको कहीं भी संतुष्टि नहीं मिली।

इसके बाद वह सीधा नेशनल स्कूल ऑफ ड्रामा संस्थान में चले गए। वहां से उन्होंने पूरी मेहनत लगन और शिद्दत के साथ एक्टिंग सीखी। जब उन्होंने एक्टिंग सीख ली तब उन्होंने अपने आपको मुंबई में आजमाया। शुरुआती समय में उन्होंने खूब संघर्ष किया। लेकिन धीरे-धीरे उनका संघर्ष एक मजबूत संकल्प में बदल गया। और आज वह बॉलीवुड के मशहूर चेहरों में से एक है।

मनोज बाजपाई मनोज बाजपेई को कौन नहीं जानता उन्होंने बॉलीवुड के सत्यमेव जयते से लेकर बागी 2 जैसे बेहतरीन फिल्मों मे किरदार निभाकर अपनी एक नई पहचान बनाई। साथ ही बेहतरीन कलाकारों में से नेशनल फिल्म अवार्ड भी मिल चुका है। आपको बता दे की मनोज वाजपेई का जन्म बिहार के पश्चिम चंपारण के बेलवा गांव में हुआ था।

अगर उनकी पढ़ाई लिखाई की बात करें तो उन्होंने दिल्ली विश्वविद्यालय के रामजस कॉलेज से अपना स्नातक पूरा किया है। इसके बाद उन्होंने नेशनल स्कूल ऑफ ड्रामा में तीन बार आवेदन किया। लेकिन, तीनों बार उनको असफलता का सामना करना पड़ा था। जब उन्होंने हार न मानते हुए चौथी बार भी अपना आवेदन दिया। तब उनको एनएसडी में दाखिला मिल गया। और आज मशहूर कलाकारों में से एक है।

सुशांत सिंह राजपूत : सुशांत सिंह राजपूत को तो अब पूरा भारत जानता है। लेकिन वह हमारे बीच नहीं है। आपको बता दे सुशांत एक्टिंग के अलावा पढ़ने में भी बहुत तेज थे। उन्होंने अपनी इंटर की पढ़ाई पटना से पूरी की थी। जितने भी साइंस और इंजीनियरिंग से जुड़ी परीक्षाएं होती है। सुशांत सब में पास हो जाते थे। उन्होंने, जब इंजीनियरिंग की परीक्षा पास की तो तब उनको दिल्ली टेक्निकल यूनिवर्सिटी में दाखिला मिल गया। लेकिन उनको पढ़ाई के साथ साथ एक्टिंग का भी शौक था। तब सुशांत ने बीच में ही पढ़ाई छोड़ दी और वह एक्टिंग में आ गए।

शत्रुघ्न सिन्हा शत्रुघ्न सिन्हा तो हमेशा अपने फेमस डायलॉग खामोश के चलते लोगों के दिलों पर छाये रहते हैं। अगर, आज के समय में कोई खामोश बोल दे तो सबसे पहला चेहरा शत्रुघ्न सिन्हा का दिमाग में आता है। आपको बता दे कि वह पटना यूनिवर्सिटी से स्नातक पास किए हुए हैं। लेकिन, जब उन्होंने स्नातक की डिग्री पूरी कर ली। तब उनकी रूचि फिल्मों की तरफ चली गई। और फिर वह फिल्म एंड टेलीविजन इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया पुणे में चले गए और एक नकारात्मक किरदार के रूप में अपने आपको बॉलीवुड में स्थापित किया।

संजय मिश्रा संजय मिश्रा को ज्यादातर लोगों ने उनको कॉमेडी फिल्म एवं कॉमेडी रोल में देखा है। उन्हें अपनी कामयाबी का जरा सा भी घमंड नहीं है। उन्होंने, अपने जीवन की शुरुआत बिहार के दरभंगा से की थी। उन्होंने अलग-अलग शहर जाकर खूब पढ़ाई की। जब उनकी पढ़ाई पूरी हो गई तो उन्होंने नेशनल स्कूल ऑफ ड्रामा में दाखिला ले लिया और 1989 में वह पास हो गए। इसके बाद उनको 1991 में एक छोटा सा एडवर्टाइजमेंट अमिताभ बच्चन के साथ मिला था। ऐसे ही धीरे-धीरे उन्होंने अपना करियर बॉलीवुड में स्थापित किया।

शेखर सुमन शेखर सुमन भी बिहार के जाने-माने चेहरे मे से एक हैं। और वह बिहार की राजधानी पटना में पैदा हुए थे। वह ज्यादातर अपने कॉमेडी किरदारों के चलते फेमस हुए थे। वह राजनीति पर कॉमेडी करने में धुरंधर कलाकार समझे जाते हैं। अक्सर ही उन्होंने इंटरनेट पर पड़ी रिपोर्ट्स को लोगों के आगे कुछ इस तरह से प्रस्तुत किया है। कि वह उनके जहन में घुल गई है। उन्होंने अपनी स्नातक सेंट जेवियर्स कॉलेज से पूरी की है।

विनीत सिंह विनीत सिंह का जन्म बिहार की राजधानी पटना में हुआ था। और उन्होंने पटना यूनिवर्सिटी से अपनी पढ़ाई पूरी की थी। पढ़ाई पूरी करने के बाद वह नेशनल स्कूल ऑफ ड्रामा में चले गए। और वहां पर उन्होंने बाकी कलाकारों को देखा। जब वह कलाकारों को देखते थे तो वह मात्र देखते ही नहीं रहे। बल्कि उनकी हरकत की बारीकियों को भी समझते थे। इसके बाद जब 1994 में द्रोहकाल फिल्म रिलीज हुई तो उसमें उनकी जबरदस्त एंट्री को लोगों ने सराहा। वह हिंदी ही नहीं बल्कि इंग्लिश एवं दक्षिण भारत की अन्य भाषाओं में भी फिल्में कर चुके हैं।

अभिमन्यु सिंह अभिमन्यु सिंह का जन्म बिहार के छपरा जिले में हुआ था। इसके बाद उन्होंने दिल्ली यूनिवर्सिटी के सेंट स्टीफन कॉलेज से अपना स्नातक पूरा किया। और फिर फिल्मी जगत में घुस गए। उनकी फिल्म 2001 में आई थी जिसका नाम अक्स है। उसके बाद 2009 में गुलाल नाम की फिल्म को लोगों ने खूब पसंद किया था

You may have missed

You cannot copy content of this page