Thursday, July 25, 2024
Knowledge

दवा के पैकेट पर क्यों बनी होती है लाल रंग की ये लाइन? खरीदते वक्त ना करें नजरअंदाज..

Red Line on Medicine : इस दुनिया में हम रोज कहीं ना कहीं किसी न किसी चीज को देखते रहते हैं और इनमें से कई सारी चीज ऐसी हैं जिनका मतलब हमें पता ही नहीं होता। ऐसे में आप दवा को ही ले लीजिए। आपने कई सारी दवाइयां ली होगी और देखी भी होंगी जिनमें पीछे की तरफ लाल कलर की लाइन होती है। दवाई के पीछे इस लाल कलर की लाइन का बहुत बड़ा मतलब होता है जो शायद अधिकतर लोगों को पता नहीं होता है।

आज हम आपको ऐसी ही एक खास और हैरान कर देने वाली जानकारी बताने जा रहे हैं जो दुनिया के 90 प्रतिशत लोगों को नहीं पता है। आज हम आपको बताने जा रहे हैं कि दवाओं के पतों के पीछे बनी इस लाल लाइन का क्या मतलब होता है? सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म कोरा पर भी इससे जुड़ा सवाल पूछा गया कि, ‘दवाइओं के पत्तों पर लाल रंग की पट्टी क्यों बनी होती है?’ ये सवाल थोड़ा दिलचस्प लगा इसलिए आज हम लोगों द्वारा दिए गए इसके जवाब आपको बताने जा रहे है।

कोरा पर लोगों ने क्या पूछा?

अजय कुमार नाम के एक व्यक्ति ने बताया कि दवाओं के पते के पीछे लाल लाइन का मतलब होता है कि यह डॉक्टर की सलाह के बिना नहीं बेचीं जा सकती है और इसे बेचने के लिए डॉक्टर के पर्चे की जरूरत होती है। वही एंटीबायोटिक दवाओं का गलत इस्तेमाल रोकने के लिए इसके पीछे लाल लाइन दी जाती है। पैकेट पर लाल लाइन के अलावा और भी कई चीज होती है जो इसकी तरह महत्वपूर्ण होती है।

कुछ दवाओं के पैकेट पर Rx लिखा होता है जिसका मतलब डॉक्टर की सलाह से ही आप ये दवाई ले सकते है। कुछ पर NRx लिखा होता है जिसका मतलब इन दवाओं को वहीं डॉक्टर लिख सकते है जिन्हें लाइसेंस प्राप्त होता है।

कुछ दवाओं पर XRx भी लिखा होता है इसका मतलब ये दवा सिर्फ डॉक्टर से ही ली जा सकती है। इसके अलाक़ा जयदीप सिंह नाम के एक व्यक्ति ने बताया कि, ‘जिन दवाओं के पीछे लाल लाइन लगी होती है इसका मतलब है कि इस दवा को आप बिना डॉक्टर की सलाह के नहीं लेना चाहिए, वरना ये आपके लिए खतरा हो सकता है।’

दवा के पत्तों पर क्यों होती है लाल लाइन?

आइये अब आपको बताते है कि इस बात पर विश्वसनीय या विशेषज्ञ क्या कहते है? मुंबई के सबसे प्रसिद्ध कोकिलाबेन अस्पताल की आधिकारिक वेबसाइट के अनुसार जिन दवाओं के पत्तों पर लाल लाइनें बनी होती हैं, उसका अर्थ ये होता है कि वो दवाएं बिना डॉक्टर के परामर्श या उनके पर्चे के ना बेची जा सकती हैं और ना ही खरीदी जा सकती हैं। अगर आप ऐसी दवा लेते है तो पहले डॉक्टर की सलाह लें।

Durga Partap

दुर्गा प्रताप पिछले 1 सालों से बतौर Editor में के रूप में thebegusarai.in से जुड़े। इन्हें बिजनेस, ऑटोमोबाइल्स और खेल जगत से जुड़ी खबरे को गहराई से लिखने में काफी दिलचस्पी है। पिछले 5 साल से वह कई समाचार पत्रों और पत्रिकाओं में लगातार योगदान देते रहे हैं। दुर्गा ने MDSU से BCA की पढ़ाई पूरी की है।