क्यों अक्सर ही खराब हो जाते हैं Metro और बड़े Mall के Escalator – एक ही है कारण

एस्केलेटर से होने वाली दुर्घटनाओं को रोकने के लिए उनकी नियमित देखभाल बहुत जरूरी है। सार्वजनिक निर्माण विभाग के सेवानिवृत्त विशेष महानिदेशक सर्वज्ञ श्रीवास्तव ने बताया कि इन एस्केलेटर की दो तरह की देखभाल जरूरी है। पहली, समस्या आने से पहले की जांच और दूसरी, नियमित जांच। सार्वजनिक जगहों पर लोग कभी-कभी चलती सीढ़ियों से छेड़छाड़ कर देते हैं या फिर उसमें चीजें फेंक देते हैं, जिससे उनमें खराबी आती है।

सर्वज्ञ श्रीवास्तव ने आगे बताया कि वह DMRC वाले मामले के बारे में तो नहीं जानते, लेकिन कई बार देखभाल और उसको चलाने का काम निजी कंपनियों को दे दिया जाता है। लागत कम करने के लिए ये निजी कंपनियां कई बार पुराने पुर्जों को नहीं बदलती हैं। इसी तरह लोक निर्माण विभाग के एक अधिकारी ने बताया कि लिफ्ट और चलती सीढ़ियां वाली मशीन अक्सर खराब हो जाती है। इसलिए इनकी देखभाल का काम अक्सर निजी कंपनियों को दिया जाता है। इन मशीनों को चलाने वाली कंपनियों की जिम्मेदारी होती है कि वो इनकी नियमित सफाई करें और मोटरों की जांच करें।

एस्केलेटर से दुर्घटनाएं, लापरवाही करने पर होती हैं। चलती सीढ़ी पर चलते समय अगर आप मोबाइल फोन पर ध्यान लगाएंगे तो आप अपना संतुलन खो सकते हैं और चोट लग सकती है। ढीले-कपड़े, जैसे साड़ी और धोती, चलते हुए सीढ़ियों में फंस सकते हैं। एस्केलेटर के किनारे के पास खड़े होना या कुछ बच्चे और युवा जैसा करते हैं की वह रेलिंग पर लटक जाते हैं। जुलाई 2023 में, हावड़ा, पश्चिम बंगाल के एक मॉल में एक तीन साल की बच्ची का बायां हाथ चलती सीढ़ी में फंसकर कुचल गया था। कोच्चि में, एक आयुर्वेदिक अस्पताल में चलती सीढ़ी खराब होने से दो महिलाएं घायल हो गईं थी और ऐसे ही अगस्त 2022 में हैदराबाद में, 10 छात्र और एक शिक्षक खराब चलती सीढ़ी से गिरने से घायल हो गए।