Friday, July 12, 2024
Knowledge

क्या भारत के सभी डिश एंटेना का टारगेट फेस एक ही तरफ होता है?

डेस्क : आज के दौर में बिना मनोरंजन के अपनी जिंदगी सोच पाना मुश्किल है। कई युवा मनोरंजन को पूरा करने के लिए आज भी टीवी का सहयोग लेते हैं। जानकारी के लिए बता दें की टेलीविजन में जो भी चैनल आते हैं वह, एक डिश ऐंटेना के माध्यम से आते हैं। यह डिश एंटेना लोगों के घर की छत्त पर देखने को मिलते हैं।

इस एंटीना को देखते ही आपके दिमाग में यह सवाल आया होगा कि आखिर क्यों इनको एक तिरछी दिशा में मोड़कर तैयार किया जाता है। यदि इनको एक प्रकार से तिरछी दिशा में न मोड़ा जाए तो सिग्नल आने में काफी परेशानी होती है, ऐसे में डिश एंटेना के छतरी की आकार की दिशा को थोड़ा मोड़ दिया जाता है ,तो चलिए जानते है इसको क्यों मोड़ा जाता है।

दरअसल यह जो छतरी के आकार का एंटीना होता है या कुछ इस प्रकार से बना होता है कि जब भी कोई सिग्नल इस पर टकराए तो वह टकराकर वापस न जाए बल्कि एक ही जगह पर केंद्रित हो जाए। जहां पर यह सिग्नल केंद्रित होते हैं वहां पर एक रिसीवर लगा होता है। इस रिसीवर को फीड हॉर्न बोला जाता है फीड हॉर्न सिग्नल रिसीव करने में काफी मददगार साबित होते हैं यदि फीड हॉर्न को सिग्नल न मिले तो आपकी टीवी स्क्रीन पर कोई भी चैनल नहीं आएगा। कई बार आपके सामने यह डिश एंटेना, मौसम खराब होने की वजह से सिग्नल प्राप्त नहीं कर पाते हैं।