4 February 2023

सब्जी के दाम सातवें आसमान पर – फूलगोभी 100 रुपये, बैगन 80 रुपये..जानें – क्यों बढ़ रहे हैं दाम?

सब्जी के दाम सातवें आसमान पर - फूलगोभी 100 रुपये, बैगन 80 रुपये..जानें - क्यों बढ़ रहे हैं दाम? 1

डेस्क : बीते कुछ दिनों में दिल्ली-एनसीआर में सब्जियों की कीमत बढ़ गई है। जिसका सीधा असर आम आदमी की जेब पर पड़ा है और बजट भी बिगड़ता दिख रहा है। नोएडा स्थित सफल स्टोर्स में सब्जियों और फलों के दाम बहुत तेजिंसे भाग रहे हैं। साथ ही खुदरा विक्रेताओं का कहना है कि उन्हें महंगी रेट से माल मिल रहा है।

आलू से लेकर फूलगोभी तक हुआ महंगा : सामने आई लेटेस्ट जानकारी के अनुसार सफल स्टोर पर आलू 18-22 रुपये किलो, फूलगोभी 98 रुपये किलो, बैंगन 45 रुपये किलो, टमाटर 54 रुपये किलो बिक रहा है, जबकि खुदरा विक्रेता आलू 25-30 रुपये प्रति किलो, फूलगोभी 100 रुपये प्रति किलो, बैगन 80 रुपये प्रति किलो, और टमाटर 50 रुपये प्रति किलो बिक रहा है।

क्यों आई अचानक से सब्जियों की कीमतों में उछाल : ऐसे अचानक सब्जियों की कीमत में उछाल पर विक्रेताओं ने कहा है कि “सब्जियां साहिबाबाद में उगाई जाती हैं और दिल्ली और एनसीआर को आपूर्ति की जाती है. व्यापारियों का मानना है कि बारिश और उच्च परिवहन लागत के कारण आपूर्ति की कमी के कारण सब्जियों और फलों की कीमतें अधिक हैं।” विक्रेताओं का दावा है कि लगातार बारिश के कारण कृषि क्षेत्र में सब्जियां सड़ गई हैं।

एक विक्रेता कोलंबो, श्रीलंका में एक सब्जी बाजार में ग्राहकों की प्रतीक्षा करता है, शुक्रवार, 10 जून, 2022. अंतर्राष्ट्रीय मुद्रा कोष ने गुरुवार, 1 सितंबर, 2022 को कहा, यह $ प्रदान करने के लिए श्रीलंका के साथ एक कर्मचारी-स्तर के समझौते पर पहुंच गया है। हाल की स्मृति में देश को इसके सबसे खराब आर्थिक संकट से उबारने में मदद करने के लिए चार वर्षों में 2.9 बिलिय।

अन्य राज्यों में भी यही हाल : ढाई महीने से लगातार मानसून की बारिश के कारण खरीफ सीजन या गर्मियों की फसलों में हिमाचल प्रदेश में टमाटर, शिमला मिर्च, मटर, फ्रेंच बीन्स, ककड़ी और गोभी की फसल बेहद बुरी तरह से प्रभावित हुई हैं। देश की सब्जियों का कटारो कहे जाने वाले राज्य में सब्जियों के उत्पादन में 50 प्रतिशत तक गिरावट देखी गई है।