खुशखबरी! दिहारी मजदूरों को बिना कुछ किए हर माह मिलेंगे 3000 रुपये, फटाफट कराएं रजिस्ट्रेशन..

dihadi majdoor

डेस्क : सरकार की ओर से लोगों के हित में कई तरह की योजनाएं चलाई जा रही हैं। हालांकि, जानकारी के अभाव में कई लोग उन योजनाओं का लाभ नहीं उठा पा रहे हैं। ऐसे में आज हम आपके लिए केंद्र सरकार की एक योजना-प्रधानमंत्री श्रम योगी मान-धन पेंशन योजना से जुड़ी जानकारी लेकर आए हैं।

rUPEES CASH

यह सरकारी योजना है काफी फायदा : केंद्र सरकार द्वारा असंगठित क्षेत्र के श्रमिकों के लिए कई योजनाएं चलाई जा रही हैं। इन्हीं में से एक है प्रधानमंत्री श्रम योगी मान-धन पेंशन योजना। यह योजना असंगठित क्षेत्र के श्रमिकों के बुढ़ापे में उनके लिए काफी सहायक हो सकती है क्योंकि उन्हें 60 वर्ष की आयु के बाद से ही प्रति माह 3000 रुपये की पेंशन अवश्य दी जाती है।

Rupees

क्या है PM-SYM योजना? : प्रधानमंत्री श्रम योगी मान-धन पेंशन योजना (PM-SYM) एक स्वैच्छिक और अंशदायी पेंशन योजना है। मासिक योगदान लाभार्थी की प्रवेश आयु के आधार पर तय किया जाता है, जो 55 रुपये से 200 रुपये तक होता है। योजना के तहत, लाभार्थी द्वारा मासिक योगदान की गई राशि, वही केंद्र सरकार द्वारा योगदान दिया जाता है।

RUPEES-SCHEME-TWO-THREE

पीएम-एसवाईएम के लिए पात्रता : आयु 18 से 40 वर्ष के बीच होनी चाहिए। असंगठित श्रमिक के रूप में व्यक्ति (हॉकर, कृषि कार्य, निर्माण स्थल के श्रमिक, चमड़ा श्रमिक, हथकरघा, मध्याह्न भोजन, रिक्शा या ऑटो व्हीलर, कूड़ा बीनने वाले, बढ़ई, मछुआरे आदि काम करने वाले श्रमिक आदि)। मासिक आय 15000 रुपये से कम होनी चाहिए। व्यक्ति EPFO/ESIC/NPS (सरकारी वित्त पोषित) योजना का सदस्य नहीं होना चाहिए।

पीएम-एसवाईएम के लाभ

  • 60 वर्ष की आयु के बाद, लाभार्थी को न्यूनतम सुनिश्चित मासिक पेंशन 3000 रुपये मिलेगी।
  • लाभार्थी की मृत्यु होने पर उसके पति/पत्नी (पति/पत्नी) को 50% मासिक पेंशन मिलेगी।
  • यदि पति और पत्नी दोनों इस योजना के अंतर्गत आते हैं, तो उन्हें संयुक्त रूप से 6000 रुपये मासिक पेंशन मिलेगी।
ये भी पढ़ें   Post Office : 10 साल से बड़े बच्चों का Account खोलें, हर माह मिलेंगे 2500 रुपये.. जानें -

पीएम-एसवाईएम के लिए पंजीकरण : कोई भी पात्र व्यक्ति प्रधानमंत्री श्रम योगी मान-धन पेंशन योजना के लिए कॉमन सर्विस सेंटर (csc) में जाकर पंजीकरण करा सकता है। सबसे पहले नजदीकी कॉमन सर्विस सेंटर का पता लगाएं और आधार कार्ड और बैंक अकाउंट पासबुक आदि जरूरी दस्तावेजों के साथ वहां जाएं। यहां केंद्र के प्रतिनिधि से मिल कर पीएम-एसवाईएम के लिए रजिस्ट्रेशन की प्रक्रिया शुरू करें।