बिहार के इन क्षेत्रों का होगा शहरीकरण, बदल जाएगी सूरत, 20 जिलों को किया गया शामिल, देखें लिस्ट..

Bihar

न्यूज डेस्क: बिहार में नीतीश सरकार के नेतृत्व में लगातार नए नए क्षेत्रों का पूर्ण विकास किया जा रहा है, ताकि बिहार भी प्रगतिशील राज्य के लिस्ट में शामिल हो। लेकिन, इसी बीच कैबिनेट में यह निर्णय लिया गया, की अब सूबे के ग्रामीण इलाकों को भी शहरीकरण में जोड़ा जाएगा। तो ऐसे में कयास लगा सकते हैं, कि जल्द ही ग्रामीण इलाकों की सूरत बदल जाएगी। बता दे को 20 जिलों के ग्रामीण इलाकों में वो तमाम सुविधाएं आने वाले समय में विकसित की जाएंगी जो शहरी इलाकों में होती हैं, बिहार सरकार (Government Of Bihar) की ये योजना अगर धरातल पर उतर गई तो बिहार का ना सिर्फ तेजी से शहरीकरण होगा बल्कि ग्रामीण इलाकों की तस्वीर भी बदल जाएगी।

इन जिला के क्षेत्रों को शामिल किया गया:

गृह विभाग के अपर मुख्य सचिव संजय कुमार ने मीडिया को जानकारी देते हुए बताया कि 20 जिलों में शहरीकरण योजना को मंजूरी दी गयी है, इसके तहत शहरों के निकट के ग्रामीण इलाकों को भी शहरी सुविधाओं से युक्त किया जाएगा। इस योजना के तहत शहरों के विस्तारीकरण की योजना में शामिल होने की पात्रता रखने वाले जिले ही हिस्सा बनेंगे, जिन 20 जिलों को इसमें शामिल किया गया है उनमें बक्सर, किशनगंज, कटिहार, सासाराम, डेहरी, मोतिहारी, औरंगाबाद, हाजीपुर, जमुई, सीवान, बेतिया, बगहा, लखीसराय, खगड़िया, अररिया, फारबिसगंज, सीतामढ़ी, मधुबनी, शिवहर और भभुआ शामिल हैं।

आत्मनिर्भर बिहार के तहत सारे कार्य किए जा रहे हैं:

वही पंचायती राज के मंत्री सम्राट चौधरी ने बताया कि बिहार में शहरीकरण को बढ़ावा देने और ग्रामीण इलाक़ों की तस्वीर बदलने के लिए बिहार सरकार ने मास्टर प्लान बनाया है, ये आत्मनिर्भर बिहार के लिए बेहद ज़रूरी है। इसी को देखते हुए बिहार कैबिनेट की बैठक में ये फ़ैसला लिया गया है की शहरीकरण को बढ़ावा दिया जाएगा। और हां, सरकार ने यह तय किया है कि 20 जिलों को कैसे सुंदर बनाया जाए, इसके लिए मास्टर प्लान के तहत ये चिन्हित किया जाएगा कि कहां पर अस्पताल बने, कहां सड़क बने और कहां इंडस्ट्री लगानी है।

You may have missed

You cannot copy content of this page