बिहार में खुलेआम घुशखोरी: जनता दरबार में फरियाद लेकर पहुंची महिला ने कहा- सेविका बहाली के नाम पर मांगे 2 लाख, मैने 25 हजार दिया..

CM Nitish

न्यूज डेस्क: बिहार में प्रत्येक सोमवार राजधानी पटना में मुख्यमंत्री जनता दरबार लगता हैं, जिसमे अलग-अलग विभाग की शिकायतें सुनी जाती चाहे वो शिक्षा, स्वास्थ्य, या समाज कल्याण की शिकायत हो। पर इस बार इस दरबार में घुशखोरी की भी खबर सामने आई, वैसे राजनिति और घुशखोरो का सम्बन्ध काफी गहरा है ।

अब मधुबनी से आए एक फरियादी ने बताया की समाज कल्याण विभाग के आंगनबाड़ी सेंटर चलाने वाले सेविका की बहाली के घूस का रेट सीएम को बताया। उसने बताया कि सेविका की बहाली के लिए 2 लाख रुपए तक घूस ली जा रही है। मधुबनी से आए युवक ने सिस्टम की पोल खोलनी शुरू कर दी।

ऐसा क्या कहा युवक ने की नीतीश कुमार भी हो गए दंग

उस युवक ने बताया कि कुछ दिन पहले उसके परिवार की एक महिला सदस्य के सेविका पद पर बहाली के लिए 2 लाख मांगे जा रहे हैं। और हम 25 हजार रुपए दे भी दिए हैं, लेकिन अब उससे फोन कर घूसखोर बाकी की रकम मांग रहे हैं। यह सुन CM भी चौक गए और इस मामले को समाज कल्याण विभाग के पदाधिकारियों को जांच के आदेश दिए।

इसके अलावा दरबार में कई अन्य मामलों पर चर्चा हुई कभी शिक्षा पर तो कभी कोरोना पर । मुख्यमंत्री के जनता दरबार में कोरोना से मौतों और उन्हें मुआवजा नहीं मिल पाने के कई मामले सामने आए। इन मामलों में सबसे अधिक शिकायत RTPCR जांच रिपोर्ट नहीं मिलने को लेकर आई। वही मरने वालों के परिवार को सुप्रीम कोर्ट के निर्देश अनुसार मुआवजा मुहैया भी नहीं करवाया गया है। सीएम ने जल्द इस पर एक्शन लेने के आदेश दे दिए है।

You may have missed

You cannot copy content of this page