बिहार में 45, 852 शिक्षकों की BPSC से होगी नियुक्ति, देखें- जिलावार सीट की स्थिति..

BPSC

डेस्क: बिहार सरकार ने प्रधान शिक्षकों के लिए एक बड़ा तोहफा दिया है, अब सूबे के प्रारंभिक विद्यालयों में पहली बार प्रधान शिक्षकों की नियुक्ति होनी है, इसी तरह नवस्थापित माध्यमिक एवं उच्च विद्यालयों में भी प्रधानाध्यापकों की नियुक्ति होनी है। जो लिखित परीक्षा के आधार पर किया जाएगा।

बताते चलें कि नियुक्त होने वाले प्रधान शिक्षक और प्रधानाध्यापक सीधे शिक्षा विभाग के अधीन होंगे, प्रारंभिक, माध्यमिक एवं उच्च माध्यमिक विद्यालयों में सृजित 45, 852 पदों पर बिहार लोक सेवा आयोग (BPSC) से प्रधानाध्यापकों की बहाली को लेकर शिक्षा विभाग ने तैयारी तेज कर दी है। इनमें 40,518 प्रधान शिक्षक और 5,334 प्रधानाध्यापक के पदों पर नियुक्ति की अधियाचना (Requisition) भेजने की तैयारी है।

जानकारी के लिए आपको बता दें की शिक्षा विभाग को संबंधित पदों पर बहाली के लिए आरक्षण संबंधी रोस्टर क्लियरेंस की रिपोर्ट आ गई है, जिन जिलों से रिपोर्ट नहीं मिली है उनके जिला शिक्षा पदाधिकारियों एवं जिला कार्यक्रम पदाधिकारियों को अविलंब देने को कहा गया है, विभाग के अनुसार सृजित पदों का सभी 38 जिलों के बीच बंटवारा करते हुए रोस्टर क्लियरेंस के निर्देश के साथ जिलों को भेजे गए थे।

इन जिलों में है इतनी सीट:

अररिया में 1327, अरवल में 335, औरंगाबाद में 1093, बांका में 1220, बेगूसराय में 738, भागलपुर में 902, भोजपुर में 1139, बक्सर में 651, दरभंगा में 1424, पूर्वी चंपारण में 1914, गया में 1697, गोपालगंज में 1055, जमुई में 828, जहानाबाद में 547, कैमूर में 612, कटिहार में 1115, खगडिय़ा में 544, किशनगंज में 812, लखीसराय में 473, मधेपुरा में 810, मधुबनी में 1883, मुंगेर में 536, मुजफ्फरपुर में 1632, नालंदा में 1352, नवादा में 963, पटना में 1984, पूर्णिया में 1354, रोहतास में 1271, सहरसा में 754, समस्तीपुर में 1540, सारण में 1436, शेखपुरा में 247, शिवहर में 216, सीतामढ़ी में 1107, सिवान में 1209, सुपौल में 1047, वैशाली में 1112, पश्चिम चंपारण में 1639

You may have missed

You cannot copy content of this page