दीपावली- छठ पर बिहार आने वालों लोगों के लिए महत्वपूर्ण जानकारी- एंट्री लेने से पहले सीमा पर रूककर दिखाना होगा ये सर्टिफिकेट..

Nitish Kumar

न्यूज डेस्क: पर्व-त्योहार के मौके पर बड़ी संख्या में बिहार के लोग वापस आते हैं। अब दिवाली आनी वाली है, और उसके तुरंत बाद छठ ऐसे में भारत भर से कई लोग बिहार आते हैं। देश कोरोना केस तो कम हो गए है पर बिहार की नीतीश सरकार ने लोगों की सुरक्षा के लिए नए नियम लागु किए है।

उन्होने हर सोमवार को लगने वाले जनता दरबार में यह आदेश दिए है की जो लोग भारत के अन्य राज्य में रह रहे है और त्योहारों के बीच बिहार वापसी करना चाह रहे हैं वो पहले अपना आरटीपीसीआर (RT-PCR) जांच और टीकाकरण अवश्य करा ले। अगर किसी व्यक्ति ने ऐसा नहीं कराया है तो यहां आने पर कराया जाएगा। पटना में सोमवार को ‘जनता दरबार में मुख्यमंत्री कार्यक्रम के बाद पत्रकारों से चर्चा करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि कोरोना के दौर में भी देश के अन्य राज्यों में फंसे बिहार के लोगों की मदद की गई है।

नीतीश सरकार ने आदेश किए:

बिहार के मूल निवासी जो वर्तमान में अन्य राज्यों में रह रहे हैं, उन्हें प्रचार के विभिन्न माध्यमों से सूचित किया जाना चाहिए कि यदि उन्होंने टीका लगाया है और पहले ही आरटी-पीसीआर परीक्षण से गुजर चुके हैं, तो उन्हें अपना टीकाकरण और आरटी-पीसीआर परीक्षण प्रमाण पत्र साथ रखना होगा। टीकाकरण अभियान की समीक्षा करते हुए उन्होंने अधिकारियों से राज्य के भीतर शेष लोगों का शीघ्र टीकाकरण सुनिश्चित करने को कहा।

उन्होंने अधिकारियों को उन सभी लोगों का टीकाकरण सुनिश्चित करने के लिए भी कहा, जिन्हें उनकी पहचान के लिए किसी अन्य दस्तावेज का उपयोग करके उनके आधार नंबर / कार्ड की अनुपलब्धता के कारण टीकाकरण नहीं किया जा सका। उन्होंने ऐसे व्यक्तियों के आधार कार्ड बनाने का भी आदेश दिया।

नीतीश ने आगे राज्य में कोविद -19 परीक्षण की संख्या बढ़ाने का आदेश दिया। इससे पूर्व अतिरिक्त मुख्य सचिव (स्वास्थ्य) प्रत्यय अमृत ने कोविड-19 सहित विभिन्न बीमारियों की जांच के लिए स्वास्थ्य विभाग द्वारा किए जा रहे कार्यों की वर्तमान स्थिति पर मुख्यमंत्री के समक्ष विस्तृत प्रस्तुति दी।

You cannot copy content of this page