बेरोजगार कन्हैया कुमार की Income जानकार आप भी हो जायेंगे हैरान, न नौकरी, न घर फिर भी ऐसे करते है मोटी कमाई…

Kanhiya Kumar

डेस्क: 2 जनवरी 1987 को बेगूसराय के दिनकर की धरती पर जन्मे कन्हैया कुमार को आज कौन नहीं जानता… अपने मोटिवेशन भाषण को लेकर पूरे विश्व में प्रसिद्ध हो चुके हैं, और लगातार सोशल मीडिया पर राजनीतिक बयानों को लेकर सुर्खियों में रहते हैं।

बता दे की कन्हैया कुमार जेएनयू (JNU) के छात्र संघ के पूर्व अध्यक्ष भी रह चुके हैं, कई बार उन पर देशद्रोह के आरोप भी लगाए गए, लेकिन उन्होंने साफ तौर पर कहा कि ऐसी घटनाएं कभी भी उन्हें डरा नहीं सकती है। अक्सर कहते हैं कि “आप मुझे मार सकते हैं, आप मुझे चुप करा सकते हैं, लेकिन आप मुझे डरा नहीं सकते।”

लेकिन, इसी बीच आप लोगों को उनके राजनीतिक कैरियर नहीं बल्कि उनके कुल संपत्ति के बारे में बताएंगे, बरहाल हो कि हाल ही में कन्हैया ने कम्युनिस्ट पार्टी को छोड़कर कांग्रेस ज्वाइन कर लिया, लेकिन क्या आपको पता है कि कन्हैया कुमार छात्र नेता रहे हैं। अभी तक उन्होंने कोई नौकरी भी नहीं की है, फिर कन्हैया अपना खर्चा कैसे चलाते हैं। आइए आपको पूरी खबर विस्तार से बताते हैं।

इतने संपत्ति के मालिक है, कन्हैया: बता दें कि सोशल मीडिया पर अक्सर कन्हैया कुमार से यह प्रश्न पूछा जाता है कि उन्होंने साल 2019 में हुए चुनाव के हलफनामे में खुद को बेरोजगार बताया था। लेकिन, बावजूद इसके भी इतनी संपत्ति के मालिक कैसे हो सकते हैं। इस सवाल के जवाब में कन्हैया कुमार ने कहा था कि वह बेरोजगार जरूर है। लेकिन उनके गांव में पैतृक संपत्ति मौजूद है। उनका खर्चा उनके पैतृक संपत्ति से ही आता है। उनके घर वाले उन्हें पैसे देते हैं।

असल में इतने संपत्ति के मालिक हैं: बता दे की साल 2019 में कन्हैया कुमार ने संपत्ति के बारे में बात करते हुए बताया था कि वह कुल 3,57,848 रुपये की संपत्ति के मालिक है। इलेक्शन कमिश्नर को उन्होंने 2019 में बताया था कि उनके पास कैश के रूप में मात्र 36,000 हजार रूपए हैं। बता दे की साल 2017–18 में कन्हैया कुमार 1 साल में 6,30,360 रुपए कमाते थे। वहीं दूसरी तरफ यह कमाई 2018-19 में जाकर कम हो गई। 2019 में कन्हैया कुमार ने मात्र 2,28,290 रुपए रुपए ही कमाए।

आखिर खर्चा कैसे चलाते हैं कन्हैया: मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, कन्हैया अपने हलफनामे में खुदको बेरोजगार बताया था जो कुछ फ्रीलांस राइटिंग का काम करता है, इसके अलावा वो कुछ यूनिवर्सिटी में गेस्ट लेक्चर भी देते हैं।

इसके अलावा कन्हैया कुमार के पास न घर है न गाड़ी..बेगूसराय स्थित गांव बीहट में उनकी थोड़ी सी जमीन है, वह भी उन्हें विरासत में मिली है, कन्हैया कुमार बताते हैं कि उनको मिलने वाली आय का सबसे बड़ा स्रोत उनके द्वारा लिखी गई किताब ‘बिहार टू तिहाड़’ से मिलने वाली रॉयल्टी है।

You cannot copy content of this page