बेगूसराय में कोरोना के एक्टिव मरीजों की संख्या हुई 396 , डीएम ने जनप्रतिनिधियों के साथ किया वर्चुअल मीटिंग

DM Virtual Meeting

न्यूज डेस्क, बेगूसराय : जिला पदाधिकारी अरविंद कुमार वर्मा ने सोमवार को जिले के माननीय जनप्रतिनिधियों के साथ वर्चुअल मीटिंग के माध्यम से जिले में कोविड-19 प्रबंधन पर विस्तार से चर्चा की। इस अवसर पर माननीय केंद्रीय मंत्री, पशुपालन, डेयरी एवं मत्स्य पालन मंत्रालय, भारत सरकार गिरिराज सिंह सहित शामिल कई विस सदस्यों ने कोविड-19 संक्रमण के प्रसार को रोकने हेतु जिला प्रशासन की तैयारियों एवं व्यवस्थाओं को संतोषजनक बताया।

इस दौरान माननीय केंद्रीय मंत्री ने अपने सबोधन में जिले में विगत वर्ष एवं वर्तमान वर्ष में कोविड-19 संक्रमण के ट्रेड का विश्लेषण करने तथा उसी अनुरूप कार्रवाई करने हेतु निदेशित करने के साथ-साथ कोविड-19 से संक्रमित व्यक्तियों के ईलाज हेतु सपोर्टिंग दवाइयों, वैक्सीन की उपलब्धता आदि की जानकारी प्राप्त की। इस क्रम में उन्होंने आमजनों द्वारा अधिकाधिक कॉविड-19 प्रोटोकॉल की सुनिश्चितता हेतु लोगों को जागरूकता करने का भी निर्देश दिया। बैठक के दौरान सदर विधायक कुदन कुमार द्वारा विधानसभावार टीकाकरण सत्र स्थलों की सूची उपलब्ध कराने का अनुरोध किया गया।

जिला पदाधिकारी ने शीघ्र ही सूची उपलब्ध करवाने के साथ-साथ नियमित अंतराल पर टीकाकरण सत्र स्थलों के संबंध में जानकारी उपलब्ध कराने के बारे में भी आश्वस्त किया। बैठक के दौरान मटिहानी विधायक राजकुमार सिंह द्वारा निजी शिक्षण संस्थानों के संचालन के सम्बन्ध में अपनी राय रखी तथा जिलास्तर पर एसपी निर्धारित करते हुए इसके संचालन की अनुमति का अनुरोध किया। जिला पदाधिकारी ने विभागीय निर्देश के आलोक में की जा रही कार्रवाई के संबंध में जानकारी देते हुए माननीय सदस्य की मांग को उच्चस्तर तक सूचित करने का आश्वासन दिया।

चेरिया बरियारपुर विधायक राजवंशी महतो ने मझौल क्षेत्र में कोविड-19 की जांच व ईलाज हेतु की जाने वाली व्यवस्था तथा बछवाड़ा विधायक सुरेद्र मेहता ने बछवाड़ा के नवटोल में टीकाककरण सत्र स्थल के सस्थापन आदि के सबंध में अपने विचार रखे। एसकमाल विधायक सत्तानन्द सम्बुद्ध उर्फ ललन यादव ने भी इस दौरान अपनी बातें रखी।

इससे पूर्व जिला पदाधिकारी ने कहा कि जिला प्रशासन कोविड-19 संक्रमण को सेकने हेतु सरकार द्वारा दिए गए निर्देशों का अक्षरशः अनुपालन हेतु प्रतिबद्ध है तथा वर्तमान में टेस्टिंग, ट्रैकिंग, ट्रीटमेंट एवं जागरूकता की रणनीति पर कार्य कर रही है। उन्होंने कहा कि कोरोना सक्रमण के प्रसार को रोकने की दिशा में जिले भर में प्रशासनिक पदाधिकारियों/कर्मी तथा पुलिस पदाधिकारियों/ पुलिस बलों दवारा अपने उत्तरदायित्व का गंभीरता से निर्वहन किया जा रहा है।

इस दौरान उन्होंने जिले में एक्टिव मामले, कुल मामलो, डिस्चार्ज किए गए व्यक्तियों, वैक्सीनेशन किए हुए व्यक्तियों आदि के संबंध में जानकारी देते हुए बताया कि एक मार्च 2021 के बाद से अब तक कुल 53,242 व्यक्तियों का कोरोना जांच किया गया है। इसमें कुल 557 पोजिटिव मामले रिपोर्ट किए गए हैं जिसमें से अब तक कुल 159 व्यक्तियों को डिस्चार्ज किया जा चुका है। अद्यतन प्रतिवेदन के अनुसार, वर्तमान में जिले में कुल 396 व्यक्ति कोरोना सक्रमण से प्रभावित है जिसमे से 367 होम आइसोलेशन में तथा 29 व्यक्ति संस्थागत आईसोलेशन है, जहां निर्धारित प्रोटोकॉल के तहत ईलाज किया जा रहा है।

वर्तमान में कुल 89 कन्टेन्मेंट जोन है। उन्होंने जिले में संस्थागत आइसोलेशन यथा डेडिकेटेड कोविड हेल्थ सेंटर (डीसीएचसी), कोविड केयर सेंटर (सीसीसी) की क्षमता एवं उसमें उपलब्ध सुविधाओं की भी जानकारी दीं। जिले में कोविड वैक्सीनेशन की अद्यतन स्थितियों के संबंध में जनप्रतिनिधियों को देते हुए उन्होंने बताया कि जिले में अब तक 1,55,507 व्यक्तियों का कोविड-19 टीकाकरण किया जा चुका है।