Electric Car खरीदने का बना रहे मन? आसान भाषा में समझिये फायदे है या नुकसान..

Electric Drive

डेस्क : भारत में इस समय इलेक्ट्रिक व्हीकल का क्रेज काफी बढ़ता जा रहा है। यही कारण है कि कंपनियां इस सेगमेंट पर अधिक जोर दे रही हैं। कई वाहन बनाने वाली कंपनियों का मानना है कि वह 2030 तक एक से बढ़कर एक जबरदस्त कारें इंडियन मार्केट में पेश करेंगी।

शोर-शराबा से मिलती है निजात : इलेक्ट्रिक गाड़ियां डीजल-पेट्रोल से चलने वाली गाड़ियों के मुकाबले कम आवाज करती है। ईवी चलाते समय राइडर को लग्जरी का अहसास होगा। साथ ही मेंटेनेंस कॉस्ट कम पड़ता हैं। ईवी की सर्विसिंग करवाने पर आपको इंजन से चलने वाली गाड़ियों की तुलना में कम पैसे लगते है.

रनिंग कॉस्ट पड़ती है : इस समय भारतीय बाजारों में कम से कम 300 किमी रेंज देने वाली गाड़ियां उपलब्ध हैं, जो पेट्रोल-डीजल के मुकाबले रनिंग कॉस्ट में काफी सस्ती होती हैं। ईवी खरीदने का सबसे अधिक फायदा आप इसकी रनिंग कॉस्ट से उठा सकते हैं। यही असल वजह भी है जिसके कारण लोग ईवी को खरीदना अधिक पसंद कर रहे हैं।

लिमिटेड रेंज : इलेक्ट्रिक व्हीकल सिंगल चार्ज पर एक लिमिटेड रेंज देता है। जबकि ईंधन से चलने वाली गाड़ियों में फ्यूल डालकर आप अनलिमिटेड ड्राइविंग का आनंद उठा सकते है.

चार्जिंग में लगता है अधिक समय : ईवी को चार्ज करने में काभी समय लगता है, वही ईंधन से चलने वाली गाड़ियों में मात्र 2 मिनट के अंदर ईंधन भरा जा सकता है.

ये भी पढ़ें   अब देश में जब्त होंगे पेट्रोल-डीजल वाले गाड़ी - Nitin Gadkari इलेक्ट्रिक वाहन को लेकर बनाया ये प्लान..