वार्ड सदस्यों का तीन दिवसीय गैर आवासीय प्रशिक्षण शिविर का उद्घाटन

Ward

तेघरा (बेगूसराय) पंचायती राज विभाग बिहार सरकार के द्वारा सरकार के विभिन्न महत्वाकांक्षी योजनाओं को धरातल पर उतारने हेतु तेघरा प्रखंड अंतर्गत अटल कलाम भवन के सभागार में 5 सितंबर सोमवार को तेघरा प्रखंड के बरौनी 2, बरौनी 3 गौरा एक एवं निपनियां मघुरापुर के निर्वाचित वार्ड सदस्यों का तीन दिवसीय गैर आवासीय प्रशिक्षण का विधिवत उद्घाटन प्रखंड विकास पदाधिकारी संदीप कुमार पांडे, जिला प्रशिक्षक प्रियंका भारती, प्रखंड प्रशिक्षक अमरजीत कुमार ,मन्नू सिद्धार्थ, अविनाश राज एवं सनीस कुमार तथा विक्की कुमारने संयुक्त रूप से दीप प्रज्वलित करके किया। उ

द्घाटन सत्र को संबोधित करते हुए प्रखंड विकास पदाधिकारी संदीप कुमार पांडे ने कहा कि ग्राम विकास के क्षेत्र में पंचायती राज व्यवस्था के तहत ग्राम पंचायत सदस्यों की भूमिका महत्वपूर्ण होती है प्रशिक्षण के माध्यम से जनप्रतिनिधियों के अधिकारों, कर्तव्यों एवं दायित्वों के प्रति जागरूक एवं संवेदनशील बनाने में उन्मुखीकरण का बहुत बड़ा महत्व होता है।अब इसी प्रशिक्षण के रोशनी में पंचायत में बेहतर विकास का आधारशिला रखा जाएगा।

ताकि गांधी के स्वराज्य की सपनों का ग्राम स्थापित किया जा सके। प्रशिक्षण शिविर में जिला प्रशिक्षक प्रियंका भारती द्वारा वार्ड क्रियान्वयन एवं प्रबंधन समिति के दायित्व, मुख्यमंत्री पेयजल योजना व रखरखाव , लघु मरम्मत एवं बेहद मरम्मत कार्य के अलावे पंचायत राज अधिनियम से संबंधित विस्तृत जानकारी के साथ ही ग्राम सभा का आयोजन, योजना का चयन एवं कार्य व दायित्व का बोध करवाया गया . वहीं राज्य सरकार के सात निश्चय योजना, आर्थिक हल युवाओं को वल, महिलाओं के लिए अधिकार, हर घरों में नल का जल ,निर्मल भारत योजना घर घर में शौचालय का निर्माण आदि पर जानकारी दी गई।

ये भी पढ़ें   बिहार को सक्षम और स्वावलंबी बनाने में सहकारिता आवश्यक, मुखिया पंकज सहनी

स्वच्छ भारत का सपना पूरा करने ,हर घर में बिजली एवं गली-गली में पक्की नाला का निर्माण आदि से प्रतिनिधियों को पूरी तरह से अवगत करवाया गया । प्रशिक्षण में 14 वीं वित्त आयोग ,पंचायती राज वित्त आयोग एवं ग्रामीण पंचायत विकास योजना, केंद्र व राज्य सरकार की संचालित योजनाएं, मनरेगा, प्रधानमंत्री आवास योजना, शिक्षा, चिकित्सा एवं बाल विकास परियोजना की सशक्तिकरण आदि की जानकारी दी गई प्रथम दिन के प्रशिक्षण कार्य को मूर्त रूप देने में तकनीकी सहायक अमरजीत कुमार एवं सिद्धार्थ तथा अविनाश राज, प्रखंड नाजिर, आवास पर्यवेक्षक मुकेश कुमार आदि की भूमिका महत्वपूर्ण रहा।