9 February 2023

Mukesh Ambani की चमकी किस्मत! 3.2 मिलियन नए ग्राहक किए अपने नाम, Airtel -Vi की बढ़ी मुश्किल..

Mukesh Ambani JIO

डेस्क : Reliance Jio ने अगस्त में अपनी सेवाओं में 3.2 मिलियन से अधिक वायरलेस उपयोगकर्ता जोड़े। इसके साथ ही कंपनी ने अपने यूजरबेस को बढ़ाकर करीब 420 मिलियन कर दिया है। कंपनी ने फिक्स्ड लाइन सेवाओं में भी पहला स्थान हासिल किया। देश में दूरसंचार सेवाओं की शुरुआत के बाद पहली बार किसी निजी कंपनी ने वायरलाइन सेगमेंट में शीर्ष स्थान हासिल किया है।

नवीनतम आंकड़े दूरसंचार नियामक प्राधिकरण (Trai) द्वारा साझा किए गए, जहां नियामक ने कहा कि रिलायंस जियो ने अगस्त महीने में 32.8 लाख (32.8 लाख) वायरलेस उपयोगकर्ता जोड़े और इससे कंपनी का कुल मोबाइल उपयोगकर्ता आधार 419.24 मिलियन (41.92) हो गया। लाख) .करोड़) बढ़कर रु.

वहीं, डेटा से पता चलता है कि भारती एयरटेल ने इसी अवधि के दौरान 03.2 mil (32 लाख) उपयोगकर्ता जोड़े। वहीं, वोडाफोन आइडिया को सबसे ज्यादा नुकसान हुआ, जहां अगस्त में टेलीकॉम दिग्गज ने देश में अपने 1.95 मिलियन (1.95 मिलियन) वायरलेस ग्राहकों को खो दिया।

ट्राई के अनुसार, अगस्त में 1148.03 मिलियन से वायरलेस उपयोगकर्ताओं की कुल संख्या बढ़कर 1149.11 मिलियन (लगभग 1149 मिलियन) हो गई। ग्रामीण और शहरी क्षेत्रों के संदर्भ में, शहरों में वायरलेस उपयोगकर्ताओं की संख्या 626.74 मिलियन से बढ़कर 627.09 मिलियन (लगभग 627 मिलियन) हो गई, जबकि ग्रामीण क्षेत्रों में यह संख्या 521.29 मिलियन से बढ़कर 522.02 मिलियन (522 मिलियन) हो गई।

ट्राई के आंकड़ों के मुताबिक, अगस्त महीने के दौरान कुल 101.346 करोड़ सक्रिय वायरलेस ग्राहक थे, जिनमें से रिलायंस जियो के पास सबसे ज्यादा 38.463 करोड़ सक्रिय वायरलेस ग्राहक थे। इसके बाद एयरटेल के साथ 35.766 करोड़ और वोडाफोन आइडिया के साथ 21.429 करोड़ सक्रिय उपयोगकर्ता थे। वहीं, बीएसएनएल के 56.23 मिलियन सक्रिय वायरलेस ग्राहक थे।

जैसा कि हमने बताया कि फिक्स्ड लाइन सेवाओं में भी रिलायंस जियो पहले स्थान पर है। अगस्त में, Jio के वायरलाइन ग्राहक लगभग 73.52 लाख तक पहुंच गए, जबकि बीएसएनएल के ग्राहक 71.32 लाख थे। सरकारी टेलीकॉम कंपनी बीएसएनएल पिछले 22 सालों से वायरलाइन सेवाएं दे रही है। जियो ने तीन साल पहले इस सर्विस को लॉन्च किया था। अगस्त में, देश में वायरलाइन ग्राहकों की संख्या बढ़कर लगभग 25.9 मिलियन हो गई। जुलाई में यह आंकड़ा करीब 25.6 करोड़ था।

सब्सक्राइबर्स की संख्या बढ़ाने में प्राइवेट टेलीकॉम कंपनियों की बड़ी हिस्सेदारी है। रिलायंस जियो के ग्राहकों में करीब 2.62 लाख और भारती एयरटेल के ग्राहकों में 1.19 लाख की वृद्धि हुई। इसके अलावा, वोडाफोन आइडिया में 4,202 और टाटा टेलीसर्विसेज में वायरलाइन ग्राहकों में 3,769 की वृद्धि हुई। राज्य के स्वामित्व वाले दूरसंचार ऑपरेटरों बीएसएनएल और एमटीएनएल ने वायरलाइन ग्राहकों में क्रमशः 15,734 और 13,395 की गिरावट देखी। देश में दूरसंचार सेवाओं की शुरुआत के बाद पहली बार किसी निजी कंपनी ने वायरलाइन सेगमेंट में शीर्ष स्थान हासिल किया है।