लीजिए, राम मंदिर का निर्माण कार्य 40% तक हुआ पूरा, जानिए – कब बनकर होगा तैयार..

Ram Mandir

डेस्क : सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद से अयोध्या में बन रहे राम मंदिर के निर्माण का कार्य लगभग 40 फीसदी कार्य पूर्ण हो चुका है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 2 साल पहले विधिवत पूजा-अर्चना कर इसका शिलान्यास भी किया था। श्री राम जन्मभूमि ट्रस्ट के महासचिव चंपत राय ने न्यूज एजेंसी PTI को बताया कि दिसंबर 2023 से दुनिया भर के भक्त भगवान राम की पूजा अर्चना कर सकते हैं। राम मंदिर ट्रस्ट के अधिकारियों ने यह भी कहा हैं कि मंदिर के चारों तरफ की सड़कों को सुधारने के लिए निर्माण कार्य भी जोरों पर है।

लीजिए, राम मंदिर का निर्माण कार्य 40% तक हुआ पूरा, जानिए - कब बनकर होगा तैयार.. 1

महासचिव चंपत राय ने कहा, “मंदिर निर्माण का 40 फीसदी से अधिक का कार्य पूरा हो गया है। प्लिंथ का 80 फीसदी से ज्यादा का काम भी पूरा हो चुका है। राम मंदिर में दर्शन दिसंबर 2023 से शुरू होने की प्रबल संभावना है।” आपको बता दें कि देश में अगला आम लोकसभा चुनाव 2024 में होना है।

लीजिए, राम मंदिर का निर्माण कार्य 40% तक हुआ पूरा, जानिए - कब बनकर होगा तैयार.. 2
लीजिए, राम मंदिर का निर्माण कार्य 40% तक हुआ पूरा, जानिए - कब बनकर होगा तैयार.. 4

ट्रस्ट के महासचिव चंपत राय खुद अयोध्या के कारसेवक पुरम में डेरा जमाए हुए हैं और निर्माण कार्य की देखरेख भी कर रहे हैं। वह लगातार बैठकें करते हैं और हर दिन प्रगति की समीक्षा भी करते हैं। मंदिर निर्माण में उपयोग किए गए धन के स्रोत के बारे में पूछे जाने पर महासचिव चंपत राय ने कहा, “भगवान के कार्य के लिए धन की कमी नहीं होती है। भगवान के चरणों में ही लक्ष्मी बैठी रहती हैं।” ट्रस्ट के कुछ अधिकारियों के मुताबिक, राम मंदिर की कम से कम 1000 साल तक लंबी उम्र और स्थिरता सुनिश्चित करने के लिए बड़ी नींव रखी गई है।

ये भी पढ़ें   Indian Railway : ट्रेन में वेटिंग टिकट कन्फर्म करने के लिए TTE का टेंशन खत्म, जानें - रेलवे का नया नियम..

उन्होंने यह कहा कि राजस्थान में मकराना पहाड़ियों से सफेद संगमरमर का उपयोग करके राम मंदिर के गर्भगृह के अंदर किया जाएगा। अधिकारियों ने कहा कि संगमरमर की नक्काशी का काम भी प्रगति पर है और कुछ नक्काशीदार संगमरमर के ब्लॉक पहले से ही अयोध्या लाए जा चुके हैं।