चकाचौंध भरी दुनिया से दूर रहती हैं मनोज वाजपेयी की दूसरी पत्नी, मुसीबतों के दिनों में पहली पत्नी ने छोड़ दिया था साथ

Manoj Vajpayi Wife with Neha

डेस्क : अक्सर ही लोग उनको याद करते है जो मेहनत के दम पर कोई मुकाम हासिल करते हैं। इस धरती पर कई ऐसे लोग हैं जिन्होंने अपनी कड़ी मेहनत करके कुछ हासिल किया है। लेकिन जो कुछ भी वह लोग अर्जित करते हैं उसके पीछे उनके परिजनों का साथ जरूर होता है। इस बात को बॉलीवुड के कई सितारे साबित करके समय-समय पर दिखाते रहते हैं।

कुछ इसी तरह का कारनामा मनोज वाजपेई के द्वारा करके दिखाया गया है, जहां पर उन्होंने बचपन से एक ही सपना देखा था। वह बचपन से ही एक्टर बनना चाहते थे।जब वह छोटे थे तो अक्सर ही सिनेमा की बातें किया करते थे और अपने आप को एक बेहतरीन कलाकार के रूप में सोचा करते थे। बता दें कि वह मूल रूप से बिहार के हैं, उनका जन्म 23 अप्रैल 1969 को पश्चिमी चंपारण के एक छोटे गांव में हुआ था। उन्होंने बेतिया के स्कूल से पढ़ाई पूरी की है उसके बाद स्नातक हासिल करने के लिए दिल्ली चले गए। दिल्ली में उन्होंने रामजस कॉलेज जो दिल्ली यूनिवर्सिटी से मान्यता प्राप्त है वहां से पढ़ाई पूरी की। वह जब दिल्ली में पढ़ाई कर रहे थे तो उन्होंने नेशनल स्कूल ऑफ ड्रामा में दाखिला लेने की गहरी इच्छा जताई थी, लेकिन उसके ऑडिशन में वह बार-बार फेल हो जाते थे, जिसके चलते उनका एडमिशन भी कैंसिल हो जाता था।

फिर एक बार उनके दोस्त रघुवीर यादव ने उनको एक एक्टिंग वर्कशॉप के बारे में बताया, उसको अटेंड करने के बाद मनोज वाजपेई को 1994 में द्रोहकाल नाम की पिक्चर मिली। जिसके बाद उनकी किस्मत पलट गई। बता दें कि इस ऊपर नीचे होने वाली जिंदगी के सफर में उनकी पत्नी उनके साथ हैं। उनकी पत्नी का नाम शबाना रजा है जो बॉलीवुड में अभिनेत्री के तौर पर काम कर चुकी है। शादी होने के बाद शबाना रजा ने अपना नाम नेहा रख लिया था।

अब वह नेहा के नाम से ही जानी जाती है। बता दें कि नेहा उनकी दूसरी पत्नी है। इनकी पहली पत्नी से उनके रिश्ते ज्यादा लंबे वक्त तक चल नहीं पाए जिसके चलते उनको दूसरी शादी करनी पड़ी थी। उन्होंने पिंजर, एलओसी, जुबेदा, शूल, आरक्षण, स्पेशल 26, राजनीति, सोनचिरिया, गली गुलियां जैसी कई जबरदस्त फिल्म की है। हाल ही में उनके पिक्चर द फैमिली मैन रिलीज हुई थी जिसके चलते उनको लोगों ने खूब पसंद किया और उन्होंने भी इंटरनेट पर अपनी एक्टिंग के चलते खूब वाहवाही बटोरी।

You cannot copy content of this page