अब घर पर खुद कर सकेंगे कोरोना टेस्ट, ICMR की तरफ से होम रैपिड एंटीजन टेस्टिंग किट को मिली मंजूरी

Home based corona kit

डेस्क : कोरोनावायरस के संक्रमण को जांचने के लिए लोग इस वक्त एंटीजन टेस्ट करवाते हैं या तो RTPCR टेस्ट करवाते हैं। एंटीजन टेस्ट की रिपोर्ट तुरंत मिल जाती है। वही RTPCR रिपोर्ट को आने में 1 से 2 दिन लगते हैं। भारत में यह महामारी अपना रौद्र रूप ले चुकी है, जिसके चलते अब कोरोना की टेस्टिंग की सुविधा होम बेस्ड कर दी गई है, लोग अपनी सहूलियत के हिसाब से आने वाले समय में करोना की होम बेस्ड टेस्टिंग कर सकते हैं।

इस किट का नाम होम रैपिड एंटीजन टेस्टिंग (आरएटी) है। इस किट के द्वारा लोग घर पर अपनी सहूलियत के हिसाब से जब भी उनको कोरोना के लक्षण नजर आए वह टेस्टिंग करके अपने शारीरिक परिणाम जान सकते हैं। फिलहाल आईसीएमआर ने कहा है कि होम बेस्ड टेस्टिंग किट एक सही तरीका नहीं है लेकिन डीसीजीआई की तरफ से होम बेस्ड टेस्टिंग को बाजार में उतार दिया गया है। बाजार में होम बेस्ड टेस्टिंग किट की उपलब्धता फिलहाल नहीं है। इस किट को लेने के लिए लोगों को थोड़ा इंतजार करना होगा। जैसे ही यह किट बाजार में उपलब्ध हो जाएगी तो लोग कोरोना की बीमारी घर पर ही जांच करने में सफल हो जाएंगे। भारत में एकमात्र कंपनी जिसका नाम Mylab Discovery Solutions Ltd है, उसको यह किट बनाने की मंजूरी मिली है।

इसी प्रयास में अगर आप घर बैठे अपना को टेस्ट करवाना चाहते हैं तो गूगल प्ले स्टोर या फिर एप्पल प्ले स्टोर से माइलब में Mylab Covisself नाम की एप्लीकेशन डाउनलोड कर सकते हैं। यहां पर ध्यान देने वाली बात यह है कि यह एप्लीकेशन कोरोना के मरीजों को घर बैठे सुविधा देने में मदद करती है। जो तरीके कोरोना की जांच के लिए इस्तेमाल किए जाते हैं, उनमें लोगों को दूसरों पर निर्भर होना होता है। कभी-कभी तो टेस्ट की रिपोर्ट में दो से 3 दिन भी लग जाते हैं। ऐसे में अब यह सुविधा लोगों को घर बैठे मिलने लगेगी तो उनको काफी मदद मिलेगी।

You may have missed

You cannot copy content of this page