बिहार के IAS आशीष मिश्रा अपने बचपन के स्कूल पहुंचते ही मेड के छुए पैर , मेड ने भावुक होकर दिया ये जवाब..

ias ashish

न्यूज डेस्क: कहते हैं विद्या ददाति विनयं, विनया ददाति पात्रताम् इसी कहावत को चरितार्थ करके दिखाया है, 2020 यूपीएससी (UPSC) की परीक्षा में 52 वां रैक हासिल करने वाले बिहार के पूर्णिया के आशीष मिश्रा ने। आशीष कुमार मिश्रा ने यूपीएससी (UPSC) की परीक्षा में दूसरी बार में सफलता हासिल की है। पहले प्रयास में इंटरव्यू के बाद उनका सिलेक्शन नहीं हुआ था। रिजल्ट प्रकाशित होने के बाद आशीष अपने बचपन के स्कूल पहुंचे, जहां उन्होंने एक ऐसा कारनामा किया, जिसे देख सभी के आंख में आंसू आ गए। अक्सर आप लोग देखे होगे। शिष्य अपने गुरु के पांव छूकर आशीर्वाद लेते हैं। लेकिन आशीष ने जो किया वह वाकई काबिले तारीफ है।

दरअसल, आशीष बीते दिनों जब अपने स्कूल पहुंचे, तो वहां उन्होंने अपने गुरु से आशीर्वाद लेने के साथ-साथ स्कूल की मेड को भी पैर छूकर कर प्रणाम किया। स्कूल के इस पुराने छात्र का व्यवहार देखकर मेड की आंखें भर आईं। बता दे की आशीष ने जैसे ही स्कूल की मेड वीणा देवी को प्रणाम किया, उनकी आंखें भर आईं। उन्होंने कहा कि हमें गर्व है कि आशीष मिश्रा उनके स्कूल के छात्र रहे हैं। वो बचपन से ही काफी मेधावी और आदर्श छात्र रहा है। आज आशीष आईएएस अफसर बन गया है, इस पर मुझे और पूरे स्कूल को काफी गर्व है। उन्होंने कहा कि उन्हें विश्वास नहीं हो रहा है कि एक आईएएस अफसर उनका पैर छुएंगे।

आशीष मिश्रा स्कूल में मोटिवेशन के दौरान बच्चों को बताया जब तक आप झुकना नहीं सीखेंगे तब तक आईएएस परीक्षा में सफल नहीं हो सकते। उन्होंने कहा कि अगर सही दिशा में छात्र मेहनत करें तो आईएएस बनना असंभव नहीं है। उन्होंने कहा कि हर स्कूल में स्किल डेवलपमेंट की पढ़ाई होनी चाहिए, ताकि बच्चों का मोरल विकास हो। सफलता के लिए शिक्षा के साथ संस्कार और विनम्रता भी जरूरी है। आईएएस अधिकारी बनने जा रहे आशीष कुमार मिश्रा ने अपने स्कूल की मेड के पैर छूकर यह जता दिया कि सचमुच में वो आदर्श हैं, सबको उनसे प्रेरणा लेने की जरूरत है।

You may have missed

You cannot copy content of this page