आखिर किन बातों पर बैंक खाताधारकों से वसूलता है Banking Charges, ये रही पूरी जानकारी..

Crore Rupay

डेस्क : भारत में इन दिनों अक्सर सभी वयस्क लोग बैंक से लेन देन करते हैं। ग्राहकों को देने वाले तमाम सुविधाओ के लिए चार्ज भी काटता है। क़रीब सभी बैंक अपने ग्राहकों को ऑनलाइन और ऑफलाइन दोनों ही तरीके से सेवाएं प्रदान करते हैं। कुछ सेवाएं मुफ्त तो कुछ पर चार्ज लगता है।

आखिर किन बातों पर बैंक खाताधारकों से वसूलता है Banking Charges, ये रही पूरी जानकारी.. 1
आखिर किन बातों पर बैंक खाताधारकों से वसूलता है Banking Charges, ये रही पूरी जानकारी.. 3

लगभग सभी बैंक अपने ग्राहकों को फ्री में एटीएम कार्ड, चेक बुक और ऑनलाइन बैंकिंग सुविधाएं देते हैं। इनके अलावा कुछ सेवाओं पर शुल्क लागू भी होता है। अगर किसी तरह का बदलाव चार्ज में होता है तो इसकी जानकारी बैंक अपने वेबसाईट या मोबाईल के जरिए ग्राहकों को देती है। चलिए अब जानते हैं जिन सुविधाओ पर लगता है चार्ज –

यदि आपके खाते में बेलेंस कम है तो पेनाल्टी देने पड़ते हैं। डेबिट कार्ड सर्विस के लिए आपको सालाना चार्ज भुगतान करने होते हैं। चेक बुक बाउंस होने और कई बार बैंक पेमेंट ट्रांसफर होने पर भी पैसे लगते हैं। नगदी निकासी, होम बैंकिंग सुविधाएं और जमा राशि के अनुसार भी चार्ज लग सकता है। वहीं आवेदन प्रोसेसिंग फीस, डॉक्यूमेंट्री चार्ज, एप्लीकेशन फीस और लीगल चार्जेज की रकम भी आपको देना होता है। लॉकर की सुविधा, डेबिट कार्ड से विदेशों मे ट्रांसफर, बैंक से ड्राफ्ट बनवाने के साथ यदि फिक्स्ड रेट पर ग्राहक लोन लेता है तो इसे बंद कराने के पर भी शुल्क देने पड़ते हैं।

ये भी पढ़ें   LPG Gas Cylinder ग्राहकों को मिलता है 50 लाख का फायदा, जानें - कैसे उठा सकते हैं लाभ..