महंगाई का नया रिकॉर्ड! अब दूध, लस्सी आटा पर लगेगा एक्स्ट्रा GST शुल्क, जानें – विस्तार से..

GST ON FOOD PRODUCT

डेस्क : देशभर में महंगाई ने आम आदमी की कमर तोड़ रखी है और अब एक बार फिर से मंहगाई के मामले में बड़ा झटका मिलने वाला है। इसके साथ ही दूध, दही पनीर समेत आटा अनाज भी महंगा हो जाएगा। हालांकि, इस बीच जीएसटी परिषद ने कुछ खाद्य पदार्थों, अनाज आदि पर कर छूट वापस ले ली है और अब इन पर पांच फीसदी जीएसटी लगेगा। इस फैसले के बाद पैकेट बंद दही, लस्सी और छाछ जैसे दूध उत्पादों के दाम बढ़ सकते हैं। इसके साथ ही गेहूं और अन्य अनाज के आटा और गुड़ पर पांच फीसदी जीएसटी लगने से आने वाले समय में पैकेट बंद दूध भी महंगा हो सकता है। इससे पहले ये जीएसटी के दायरे से बाहर थे।

जानकारी के लिए बता दें कि एक्सपर्ट्स का कहना है कि जीएसटी परिषद के इस कदम से डेयरी कंपनियों को अधिक लागत के प्रभाव से गुजरने के लिए अपने उपभोक्ता मूल्यों में बढ़ोतरी करने पर मजबूर होना पड़ेगा। बता दें कि वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण की अध्यक्षता में 47 वीं बैठक में जीएसटी परिषद ने छूट को वापस लेने के तहत कहा कि अब तक, ब्रांडेड नहीं होने पर निर्दिष्ट खाद्य पदार्थों, अनाज आदि पर जीएसटी में छूट दी गई थी लेकिन अब ऐसा नहीं होगा। ब्रांड पर अधिकार छोड़ दिया गया था, जिसे संशोधित करने की सिफारिश की गई है। खास बात यह है कि उत्तर प्रदेश समेत देश के सभी राज्यों में नई दरें लागू होंगी।

गौरतलब है कि इसे लेकर रिसर्च एनालिस्ट अनिरुद्ध जोशी ने भी अपने रिसर्च नोट में कहा कि दही और लस्सी पर जीएसटी की दर मौजूद समय में जीरो है जिसे अब बढ़ाकर पांच फीसदी किया गया है। इसके साथ ही उन्होंने बताया कि आधे से ज्यादा डेयरी कंपनियों के लिए दही एक प्रमुख उत्पाद है और उनकी पुरी कमाई में दही और लस्सी का योगदान 15 से 25 फीसदी है। इसी तरह आटा और अनाज की बेसन आदि की कीमत बढ़ गई है। तो वहीं दूसरी ओर भूसें का दाम बढ़ने पर पहले से ही दूध महंगा था अब जीएसटी के बाद दूध की कीमतें और बढ़ जाएंगी।

ये भी पढ़ें   Gold Price : सोने के नए कीमत जारी, जानें - 24 कैरेट का ताजा भाव..