December 7, 2022

खुशखबरी! आचनक सस्ता हुआ सरसों का तेल – नया MRP जान खुशी से झूम उठेंगे आप..

sarso oil rate

डेस्क : वैश्विक बाजारों में तेजी के बीच में आज घरेलू बाजार में तेल-तिलहन की कीमतों में गिरावट भी देखने को मिल रही है. आज सोयाबीन समेत कई तेल की कीमतों में गिरावट भी देखने को मिली है. खाद्य तेल की कीमतों में गिरावट की वजह से आम जनता को पहले से काफी राहत मिल सकती है. वहीं, सरसों के तेल और मूंगफली की कीमतों में कोई खास बदलाव नहीं हुआ है.

किसानों को मिल रहा जबरजस्त फायदा

बाजार सूत्रों से मिली एक जानकारी के मुताबिक, सूरजमुखी और सोयाबीन डीगम तेल की आपूर्ति कम होने की वजह से यह लगभग 10 प्रतिशत ऊपर के लेवल पर बिक रहा है. इससे किसानों को खासा फायदा होगा क्योंकि उनको तिलहन के अच्छे दाम भी मिलेंगे, आपूर्ति बढ़ने से उपभोक्ताओं को भी फायदा होगा और तेल मिलों को सस्ते आयातित तेलों की वजह से जो बाजार टूट गया है उससे राहत भी मिलेगी और सरकार को भी अच्छे राजस्व की प्राप्ति होगी.

आयात पर बढ़ रही है अब निर्भरता

कुछ कारोबारी सूत्रों ने कहा कि खाद्य तेलों के लिए आयात पर बढ़ती निर्भरता और इसके लिए भारी मात्रा में विदेशी मुद्रा के व्यय के जाल से निकलने की सख्त जरूरत है. इसके लिए एकमात्र रास्ता किसानों को लाभकारी कीमत देकर देश में ही तिलहन उत्पादन को बढ़ाना ही है.

ये भी पढ़ें   जनधन खाताधारकों की बल्ले बल्ले! अब हर माह मिलेंगे 1,000 रुपये, जानिए कैसे?