December 7, 2022

UPI Payment के नियम में हुआ बड़ा बदलाव – जान लीजिए वर्ना होगा नुकसान..

UPI Payment

डेस्क : अगर आप भी UPI पेमेंट का इस्तेमाल करते हैं तो आपके लिए बड़ी खबर है. UPI पेमेंट सिस्टम (UPI Payment System) में जल्द ही बड़ा बदलाव होने वाला है, जिसका असर देश के करोड़ों यूजर्स पर पड़ने वाला हैं. इस समय हर दूसरा व्यक्ति UPI के जरिए ही पेमेंट कर रहा है तो ऐसे में इसमें होने वाला कोई भी बदलाव ग्राहकों पर एक सीधा असर डालेगा.

तीस फीसदी तक सीमित हो सकता है वॉल्यूम कैप

आपको बता दें UPI पेमेंट सर्विस की सेवा देने वाले ऐप्स जल्द ही हर दिन होने वाले ट्रांजेक्शन पर लिमिट लगाने जा रहे हैं. इसको लेकर के जोरों से तैयारियां भी चल रही हैं. नेशनल पेमेंट कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया (NPCI) देश के थर्ड पार्टी ऐप प्रोवाइडर्स (TPAP) के वॉल्यूम कैप को अब 30 फीसदी तक सीमित करने की तैयारी कर रहा है.

RBI से चल रही है बातचीत

इस बारे में अभी रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया RBI से बातचीत चल रही है. RBI की मंजूरी के बाद में ही Phone Pay, Google Pay और Paytm जैसी कंपनियां इसकी लिमिट तय कर सकेंगे, जिससे शुरुआत में ग्राहकों को अब परेशानी का सामना भी करना पड़ सकता है. हालांकि इस पर कितनी लिमिट लगायी जाएगी यह अभी तक तय नहीं हुआ है.

31 दिसंबर तक हो सकता है इसपर फैसला

आपको बता दें इस समय NCPI अब सभी तरह का मूल्यांकन कर रहा है, जिसके बाद में ही इसकी लिमिट को अब तय किया जाएगा. एक रिपोर्ट के मुताबिक, 31 दिसंबर तक इस पर फैसला भी लिया जा सकता है.

ये भी पढ़ें   LIC Scheme : बच्चों के नाम पर खुलवाए यह प्लान - मिलेगा खूब गारंटीड रिटर्न..

बैंक तय करते हैं रोज की लिमिट

बैंक की ओर से UPI की हर दिन की लिमिट तय होती है. इस समय SBI ने UPI ट्रांजेक्शन की एक दिन की लिमिट को 1 लाख तक कर रखा है. वहीं, प्राइवेट सेक्टर के ICICI Bank की अगर बात करें तो उसकी लिमिट 10,000 रुपये तक है. वर्ष 2020 में NPCI ने लेन-देन के हिस्से को कैपिंग करते हुए एक दिशा निर्देश भी जारी किया था कि एक थर्ड पार्टी एप्लीकेशन प्रोवाइडर 1 जनवरी, 2021 से UPI पर लेनदेन की वॉल्यूम का 30 फीसदी पर सेट भी कर सकता है.