शाहरुख़ खान के शहज़ादे आर्यन खान को कैदी नंबर N-956 से मिली नई पहचान , परिवार से आया इतने का मनी आर्डर

ARYAN KAIDIN SANKHYA

डेस्क : शाहरुख खान के बेटे आर्यन खान के ड्रग्स मामले की बात पूरे देश को पता लग गई है। बता दें की आर्यन खान जिस प्रकार से ड्रग्स लेते थे उससे अदालत को यह समझ आ गया है कि वह कोई मामूली बात नहीं है क्योंकि आर्यन खान के संपर्क विदेशों से हैं। ऐसे में अदालत इस नतीजे पर पहुंची है कि विदेशों से ड्रग्स मंगवाने के चलते उनकी भूमिका किसी ड्रग पेडलर से कम नहीं है। ऐसे में आर्यन खान को 5 दिनों के लिए जेल भेजा गया है। जेल में उनको कैदी संख्या भी दे दी गई है। बता दें कि उनको कैदी नंबर N 956 दिया गया है। ऐसे में अब सारे जेल अधिकारी और अन्य लोग उनको कैदी नंबर 956 कह कर बुलायेंगे।

Aryan Khan

2 अक्टूबर से लेकर आज तक आर्यन खान की जमानत याचिका चार बार खारिज हो गई। हमेशा ही आर्यन खान की तरफ से दिया गए तर्क फेल हो गया। एनसीबी के वकील के आगे किसी की भी नहीं टिक पाई। एनसीबी के वकील ने कुछ इस प्रकार से ड्रग्स के मामले को न्यायाधीश के आगे रखा कि न्यायाधीश को अपना फैसला कुछ समय के लिए सुरक्षित रखना पड़ा। बता दें कि न्यायाधीश द्वारा 20 अक्टूबर तक यह मामला सुरक्षित रखा गया है। एनसीबी के वकील ने कहा है कि आर्यन खान को किसी भी प्रकार से बेल नहीं मिलनी चाहिए। यदि उसको बेल मिलती है तो यह पूरे देश के लिए सही नहीं होगा क्योंकि बॉलीवुड से आने वाले लोग बड़ी जनता पर प्रभाव डालते हैं। ऐसे में भारत देश में सबसे ज्यादा युवा पीढ़ी रह रही है। युवा पीढ़ी पर किसी भी प्रकार का गलत असर पड़ेगा तो देश का भविष्य खराब हो सकता है।

वहीं दूसरी तरफ आर्यन खान के वकील ने एड़ी-चोटी का जोर लगाकर आर्यन खान की जमानत दिलवाने का प्रयास किया है, लेकिन वह विफल रहे। उन्होंने कहा कि आर्यन खान ने किसी भी प्रकार से ड्रग्स का सेवन नहीं किया था। जब उनको क्रूज शिप पर पकड़ा गया तो वहां से ड्रग्स आर्यन के पास से नहीं मिले। लेकिन यह सारी बातें अदालत में टिक नहीं पाई क्योंकि आर्यन खान द्वारा पहले ही बोला जा चुका है कि वह बीते 4 सालों से ड्रग्स ले रहे हैं और उनकी व्हाट्सएप चैट भी यही बातें बताती है जिसके आधार पर उनको 6 दिन तक जेल में रहना पड़ेगा। वह अन्य कैदियों के साथ रहेंगे और उन्हीं की तरह खाएंगे। उनकी दिनचर्या को निभाएंगे।

हालांकि कुछ दिनों के लिए उन्हें क्वारंटाइन किया गया था जिसके चलते उनकी रिपोर्ट आना बाकी थी। जैसे ही कोरोना की रिपोर्ट नेगेटिव आई, उसके बाद ही अदालत ने उनको अन्य कैदियों के साथ शिफ्ट कर दिया। बताया जा रहा था की वह खाना पीना करने में आनाकानी कर रहे थे। मात्र पारले जी बिस्कुट खा कर उन्होंने अपने 4 दिन गुजार दिए। गौरी खान और शाहरुख खान जेल में फोन करके अपने बेटे का हाल लेते नजर आ रहे हैं। दिन पर दिन गौरी खान और शाहरुख खान की मुसीबत बढ़ती जा रही है। त्योहारों के वक्त शाहरुख खान के परिवार पर दुख का अंबार टूट पड़ा है। बता दें कि एक शख्स को एक महीने में सिर्फ 4500 रुपये का ही मनी ऑर्डर दिया जा सकता है। इस पैसे से आर्यन कैंटीन के खर्चे कर रहे हैं।

You cannot copy content of this page