प्याज के छिलके का सहारा लेकर ड्रग्स लेते थे आर्यन खान – जाने नई गांजा लेने की तकनीक के बारे में -डार्क वेब से जुड़े तार

aryan khan drugs case dark web

डेस्क : जैसा कि हम जानते हैं शाहरुख खान के बेटे आर्यन खान इस वक्त की NCB की गिरफ्त में है और उनको छुड़ाना काफी मुश्किल है गया है बता दें कि एनसीबी के कम से कम 40 अधिकारियों ने कार्टेलिए क्रूज शिप पर छापामारी करके आर्यन खान और उनके तीन दोस्त के साथ 8 लोगों को गिरफ्तार किया था। सब पर आरोप लगा है कि 1885 के नशा कानून के तहत कोई भी व्यक्ति यदि नशा करने वाला पदार्थ को अपने पास रखकर उसका सेवन करता है या फिर उसको बेचता है तो यह कानूनी जुर्म है।

Aryan Khan is all smiles in this selfie with sister Suhana Khan and friends  : Bollywood News - Bollywood Hungama

इस वक्त देश में एक ऐसी चीज चल रही है जो बहुत ही कम लोगों को पता है। बता दे की इंटरनेट का इस्तेमाल करने वाले इस वक्त बहुत सारी ऐसी चीज कर रहे हैं जो आपको और हमें नहीं पता है। इस चीज को डार्क वेब कहा जाता है। यहां पर नार्मल बिकने वाली चीजों के अलावा वह चीजें उपलब्ध होती है जो आसानी से बाजार में में नहीं मिलती। देश की सरकार उन सब प्रोडक्ट्स पर प्रतिबंध लगाती है। अब आप सोच रहे होंगे कि हम आपको क्या बताने की कोशिश कर रहे हैं ? दरअसल गांजे की पुड़िया को डार्क वेब से मंगवाया जाता है

NCP sees a BJP link to Aryan Khan arrest in drugs case; NCB rebuttal  follows | Mumbai news - Hindustan Times

जो पुड़िया और ड्रग्स आर्यन खान के पास मिली है वह इतनी आसानी से नहीं मिलती। बल्कि, इसको इंटरनेट के माध्यम से सप्लाई किया जाता है और इस काम में पूरी सुरक्षा बरती जाती है। साथ ही जो ग्राहक इसका इस्तेमाल करता है, उसकी पूरी सुरक्षा का ध्यान रखा जाता है। डार्क वेब पर सिर्फ ख़ुफ़िया लोग ही नहीं बल्कि देश के कई युवा जन शामिल है। इस तकनीक को अनियन राउटिंग कहा जाता है। हिंदी में इसका अर्थ होता है प्याज के छिलके को उतारना। इस तकनीक से सरकार या उसके किसी भी विभाग से बचा जा साथ है क्यूंकि यहाँ पर किया गया काम ग्राहक की जानकारी को बदल देता है।

Is this the London blogger that Shah Rukh Khan's son Aryan Khan is  reportedly dating? | Hindi Movie News - Times of India

एनसीबी ने कहा है कि आजकल इंटरनेट की पहुंच हर जगह हो गई है जिसके चलते लोग टेलीग्राम, व्हाट्सएप, फेसबुक और इंस्टाग्राम के माध्यम से ड्रग्स का धंधा कर रहे हैं। जितने भी पेडलर इस वक्त मौजूद है उन्होंने डार्क वेब का सहारा लेते हुए ड्रग्स बिजनेस शुरू कर दी है। साइबर विशेषज्ञ का कहना है कि ड्रग्स के कारोबार के पीछे डार्क वेब का बहुत बड़ा योगदान है। बता दें कि डार्क वेब एक ऐसा विभाग है जो अमेरिका द्वारा बनाया गया था। अमेरिका ने इसकी शुरुआत अपनी सिक्योरिटी के लिए की थी। लेकिन जब से आम जनता के हाथ में यह तकनीक आई है तो लोग इसका दुरुपयोग करने लगे हैं। डार्क वेब पर की जा रही लेनदेन काफी बड़ी और खतरनाक होती है।

You cannot copy content of this page