बिहार के खगड़िया में खुलेगा तीसरा सबसे बड़ा पशु आहार कारखाना, स्थानीय लोगों को मिलेगा रोजगार, मार्च 2022 में काम शुरू..

Cattle Feed Plant Bihar

न्यूज डेस्क : कोशी व सीमांचल क्षेत्र के किसानों के लिए एक खुशखबरी सामने आई है। खबर यह है, की जल्द ही खगड़िया के महेशखूंट में 36 करोड़ की लागत से पशु आहार कारखाना खुले जा रहा है। इससे किसानों के साथ साथ क्षेत्र के बेरोजगार लोगों का रोजगार का बेहतर साधन बन जाएगा। जानकारी के मुताबिक, कारखाना का निर्माण युद्ध स्तर पर किया जा रहा है। अधिकारियों की माने तो जनवरी 2022 तक कारखाना का निर्माण कार्य पूर्ण होने की उम्मीद जताई जा रही है। बता दें कि यह खरखाना का निर्माण कंफोर्ट पटना की ओर से हो रहा है। लेकिन, यह कारखाना बरौनी डेयरी के अधीन है। उदघाटन के साथ ही यहां के पशुपालकों के साथ मक्का किसानों को काफी फायदा मिलेगा।

महेशखूंट बिहार का तीसरा कारखाना होगा : प्राप्त जानकारी के मुताबिक, बिहार में सुधा के फैक्ट्री मात्र दो जिलों में स्थित है। पहला पटना और दूसरा मुजफ्फरपुर में है। जबकि तीसरा कारखाना का निर्माण खगड़िया के महेशखुट में हो रहा है। बता दें कि या कारखाना ऑटोमेटिक मशीनों से लैस होगा। जो प्रतिदिन तीन सौ मीट्रिक टन का उत्पादन करेगा। वर्तमान में कोसी व सीमांचल क्षेत्र के किसानों को पशुपालकों के सुधा दाना के लिए पटना व रांची से बने फैक्ट्री से मुहैया कराया जा रहा है। जबकि, महेशखूंट में कारखाना आरंभ होने के बाद यहां तैयार दाना खगड़िया, बेगूसराय, लखीसराय, पटना जिले के बाढ़ अनुमंडल और समस्तीपुर, सहरसा, सुपौल तक भेजे जाएंगे। जो किसानों को सस्ते दर पर मिलेगा।

मक्का उत्पादन में किसानों को फायदा मिलेगा : बता दे चले की महेशखुट में पशु आहार खाना शुरू होने से यहां के किसानों को मक्का उत्पादन करने में अत्यधिक फायदा मिलेगा। क्योंकि, कारखाना की उत्पादन क्षमता प्रतिदिन तीन सौ मीट्रिक टन है। जिसमें प्रति दिन 45 मीट्रिक टन मक्के की आवश्यकता होगी। जिससे यहां के मक्का किसानों को मक्का बिक्री के लिए एक नया स्थल मिल सकेगा।

नजदीकी लोगों को रोजगार भी मिलेगा : खगड़िया के महेशखुट में कारखाना आरंभ होने के बाद यहां के लोकल मजदूरों को काम आसानी से मिल सकेगा। बता दे की कारखाना में लगे सभी मशीन ऑटोमेटिक होगा। अधिकारियों के अनुसार, प्रत्यक्ष व अप्रत्यक्ष रूप से पांच सौ से ऊपर लोगों को रोजगार मिल सकेगा। कारखाना में कार्य करने वाले लोगों के अलावा वाहन चालकों, लोड- अनलोड, मार्केटिंग सहित अन्य कार्य में लोगों को रोजगार मिलेगा।

क्या कहते हैं संबंधित अधिकारी : जानकारी देते हुए बरौनी सुधा डेयरी के सहायक महाप्रबंधक मो. हामिद उद्दीन बताते है, बिहार सरकार के सहयोग से महेशखूंट में पशु आहार कारखाना बनाया जा रहा है। जिसका निर्माण कार्य जनवरी 2022 में पूर्ण हो जाएगा। साथ ही तीन सौ एमटी प्रतिदिन उत्पादन क्षमता वाला यह कारखाना पूर्ण आटोमेटिक होगा। बिहार का यह तीसरा पशु आहर कारखाना है। इससे पशुपालकों को सस्ते में पशु आहर मिल सकेगा।

You may have missed

You cannot copy content of this page