बिहार के युवाओं के लिए खुलेगा ओलंपिक का रास्ता, 6 करोड़ 68 लाख की लागत से सेंटर फॉर एक्ससिलेंस का होगा निर्माण-जाइए सरकार का प्लान

Centre For Excellence Bihar

डेस्क : बिहार के उन युवाओं के लिए खुशखबरी है। जो ओलंपिक में जाना तो चाहते है लेकिन उन्हें बेहतर सुविधाएं नहीं मिल पाती है। राज्य सरकार के मंत्री डॉ. आलोक रंजन ने कहा है कि कोसी प्रमंडल मुख्यालय सहरसा में खिलाडिय़ों हेतु उत्कृष्टता के लिए केंद्र (center for excellence) बनेगा। जहां विभिन्न खेलों के खिलाडिय़ों को सभी प्रकार की अत्याधुनिक सुविधाएं एवं संसाधन उपलब्ध कराया जाएगा। खेल भवन के निर्माण हो जाने से सहरसा में एक ही स्थान पर करीब 25 से अधिक खेलों के खिलाडिय़ों को एक साथ अपने प्रतिभा को निखारने का मौका मिलेगा।

इस संबंध में बीते कल यानी शनिवार को कला संस्कृति व खेल विभाग के निदेशक डॉ. संजय ङ्क्षसहा अपने पूरे टीम के साथ आए हुए हैं। डॉ संजय ने कहा कि सहरसा में खेल भवन 6 करोड 68 लाख की लागत से बनेगा। जहां कबडडी, ताइक्वांडो, कुस्ती, टेबल टेनिस सहित कई अन्य खेल की अत्याधुनिक सुविधाएं उपलब्ध होगी। साथ ही हर खेलों के लिए सम्पूर्ण संसाधन उपलब्ध कराया जाएगा है। यहां खिलाडियों को किसी तरह की असुविधा का सामना नहीं करना पड़ेगा।

कुश्ती व कबड्डी के लिए बेहतर मेट सहित अन्य व्यवस्था किये जाएंगे। सेंटर फार एक्सीलेंस हेतू पूरे स्टेडियम कैंपस को अधिक विकसित किया जाएगा। स्टेडियम का लुक भी नया दिखेगी। चारों तरफ प्रकाश की पूरी व्यवस्था के साथ ही हर एक खेलों व एथलेटिक्स के सभी गेम को खेलने की उपकरणों से सुसज्जित किया जाएगा। सहरसा पहला जिला होगा, जहाँ पूरे राज्य का प्रथम सेंटर फार एक्सीलेंस बनने जा रहा है। मंत्री डॉ. आलोक रंंजन के द्वारा विभाग के अधिकारियों एवं जिलाधिकारी के साथ मिलकर इसकी समीक्षा भी की गई है।

You cannot copy content of this page