December 10, 2022

हे भगवान! 70 साल के बुजुर्ग की निकली बारात, अपने 8 बच्चों के साथ दुल्हन लाने पहुंचा ससुराल…

budha dulha

डेस्क : देशभर में शादियों का सीजन चल रहा है। शादियां जोरों पर हैं। इसी बीच बिहार के छपरा में एक ऐसी शादी हुई है, जिसकी चर्चा हर तरफ हो रही है। 70 वर्षीय दूल्हा जब वैगन पर सवार होकर अपनी दुल्हन को लेने ससुराल की ओर चल पड़ा तो सब उसे ही देखते रहे। सात बेटियों और एक बेटे के साथ पूरे गांव में शोभायात्रा थी।

हे भगवान! 70 साल के बुजुर्ग की निकली बारात, अपने 8 बच्चों के साथ दुल्हन लाने पहुंचा ससुराल… 1
हे भगवान! 70 साल के बुजुर्ग की निकली बारात, अपने 8 बच्चों के साथ दुल्हन लाने पहुंचा ससुराल… 5

बैंड-बाजा और डीजे की धुन पर सभी थिरके। पूरा गांव जश्न में डूबा हुआ था। इस अनोखी शादी को देखने के लिए काफी संख्या में लोग जमा हुए थे। इससे बुजुर्ग दंपत्ति भी काफी खुश हुए। जानकारी के मुताबिक गुरुवार को छपरा में अनोखी शोभायात्रा निकली। 70 साल के बुजुर्ग की बारात में उनकी 7 बेटियों और एक बेटे के साथ पूरे गांव की बारात बनाई गई. दरअसल, एकमा के अमदारी निवासी राजकुमार सिंह की शादी 42 साल पहले 5 मई को हुई थी, लेकिन उनकी पत्नी की शादी नहीं हुई थी। डोंगा वह रस्म है जिसमें पत्नी को अपने मायके से दूसरी बार अपने पति के घर जाना पड़ता है। राजकुमार सिंह और उनके बच्चों ने इस रस्म को इतना यादगार बना दिया, जिसे कोई नहीं भूल सकता।

हे भगवान! 70 साल के बुजुर्ग की निकली बारात, अपने 8 बच्चों के साथ दुल्हन लाने पहुंचा ससुराल… 2
हे भगवान! 70 साल के बुजुर्ग की निकली बारात, अपने 8 बच्चों के साथ दुल्हन लाने पहुंचा ससुराल… 6

42 साल पहले हुई थी शादी : छपरा में 42 साल पहले एक शख्स की शादी हुई थी। अब चार दशक से अधिक समय के बाद, वह अपनी पत्नी का दान लेने के लिए रथ पर निकले। जिले के एकमा थाना क्षेत्र के अमदारी में जब 70 वर्षीय बुजुर्ग की बारात धूमधाम से निकली तो दर्शकों को दांतों तले उंगली दबाने को मजबूर होना पड़ा. दूल्हा बने राजकुमार सिंह ने बताया कि 42 साल पहले उसकी शादी में मांझी थाने के नचप गांव से बारात आई थी। शादी के बाद वह कभी ससुराल नहीं गए और न ही उन्होंने कभी हार मानी। उन्होंने बताया कि उनकी बेटियों और बेटे ने मिलकर 42 साल बाद डोंगा की रस्म पूरी की।

ये भी पढ़ें   सफल रहा Lalu Yadav के किडनी ट्रांसप्लांट का ऑपरेशन , जानें - अब कैसी है तबीयत..
हे भगवान! 70 साल के बुजुर्ग की निकली बारात, अपने 8 बच्चों के साथ दुल्हन लाने पहुंचा ससुराल… 3
हे भगवान! 70 साल के बुजुर्ग की निकली बारात, अपने 8 बच्चों के साथ दुल्हन लाने पहुंचा ससुराल… 7

बच्चों के लिए संघर्ष : राजकुमार सिंह अपने गांव में आटा चक्की चलाते हैं। बहुत संघर्ष करने के बाद उन्होंने अपनी 7 बेटियों को बिहार पुलिस और सेना में नौकरी दिलवाई। साथ ही बेटे को इंजीनियर बना दिया। बच्चों की जिद के सामने राजकुमार सिंह को झुकना पड़ा और दूल्हा बनकर बारात लेकर निकल पड़े और अपनी पत्नी को वापस घर भेज दिया। पत्नी को भी दूल्हे का यह अंदाज काफी पसंद आया। वहीं बच्चों ने राजकुमार सिंह के प्रयासों की सराहना भी की, जिसके चलते वह आज इस मुकाम पर हैं। राजकुमार सिंह की दूसरी शादी पूरे इलाके में चर्चा का विषय बनी हुई है।