बिहार में कोरोना जांच में बड़ा फर्जीवाड़ा सात सस्पेंड, सभी जिलों में होगी जांच

Covid

न्यूज डेस्क , बेगूसराय : बिहार में कोरोना के लेकर घोटाला की बात सामने आ रही है। बिहार के जमुई जिला में सिविल सर्जन ,प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी, प्रतिरक्षण पदाधिकारी समेत सात लोगों को कोरोना जांच में फर्जीवाड़ा के मामलों में पकड़े जाने के बाद सरकार ने निलंबित कर दिया है। बता दें कि इन चार अफसरों पर जल्द ही कार्रवाई भी की जाएगी और विभागीय कार्रवाई भी चलेगी।

बता दें कि बिहार सरकार ने इस मामले की गंभीरता को देखते हुए अब पूरे जिले में प्रदेश के सभी जिलों में जांच के निर्देश भी दे दिए हैं, हालांकि कोरोना जांच की प्रक्रिया बहुत जटिल थी, लेकिन जैसे जैसे समय चलता रहा उसके बाद बहुत ही सरल हो गया। जिसके बाद कुछ लोग ऐसे थे जिनकी शिकायतें होती थी कि भाई मैं तो गया और उसके बाद अब क्या है कि, 1 हफ्ते के बाद उनके नंबर पर मैसेज आ रहा है कि आपका कोरोना जांच रिपोर्ट पॉजिटिव आया है, ऐसे ही मामले को लेकर राजद के नेता मनोज झा ने इस मामले को उठाया , जिसके बाद आरोप प्रत्यारोप का दौर भी हो गया है राजनीतिक मुद्दा विकराल बन गया।

जिसके बाद बिहार के मुख्यमंत्री ने एक्शन लिया है उन्होंने कहा बिल्कुल बर्दाश्त नहीं किए जाएंगे इस बारे में भी उन्होंने पूरी जानकारी ली उन्होंने बताया कि 1 जिले में गड़बड़ी मिली है और जिसके बाद जो है कार्रवाई की जा रही है । प्रदेश के सभी जिलों में कोरोना जांच की जांच की जाएगी ।

You cannot copy content of this page