अब पटना के बिहटा में नहीं बल्कि छपरा में बनेगा बिहार का इंटरनेशनल एयरपोर्ट ! जानिये कब तक होगा तैयार

Saran International Airport

न्यूज डेस्क : बिहार के बिहटा में बनने वाले एयरपोर्ट पर संकट के बादल छा रहे हैं। मुक्कमल जमीन नहीं मिलने के कारण एयरपोर्ट राज्य के अन्य शहर में ट्रांसफर होने की उम्मीद है। इस कड़ी में बताते चलें कि बिहटा एयरपोर्ट को सारण शिफ्ट करने पर भी विचार किया जा रहा है। इसके लिए एयरपोर्ट ऑथोरिटी ऑफ इंडिया ने पिछले दिनों एक स्टडी कमेटी का निर्माण किया था। कमेटी का निर्माण मुख्य रूप से इसलिए क्या किया गया था ताकि कमेटी यह अंदाजा लगा सके के बेटा एयरपोर्ट और सारण दोनों में से कौन सा एयरपोर्ट बेहतर होगा ।

दोनों को तुलनात्मक विवेचना करना था और कमेटी को फिर उसके बाद रिपोर्ट पेश करनी थी। मुख्यतः कमिटी को दोनों स्थलों की तुलना करते हुए कहां एयरपोर्ट निर्माण में क्या समस्याएं हैं और कितना फायदा-नुकसान है, यह बताना था । उक्त कमेटी के रिपोर्ट में बताया गया है कि बिहटा में जमीन अधिग्रहण एक बड़ी समस्या है। वर्तमान जरूरतों के अनुरूप जमीन मिल भी जाये, तो भविष्य में इसे और अधिक बढ़ाना संभव नहीं हो पायेगा और पटना एयरपोर्ट की तरह ही यह लॉक हो जायेगा। जबकि सारण जिले में ऐसी कोई समस्या नहीं होगी और वहां जरूरत से अधिक जमीन भी आसानी से रखी जा सकती है, ताकि भविष्य के विस्तार करने में भी परेशानी न हो। बताते चलें कि बेटा एयरपोर्ट पर जमीन अधिग्रहण की समस्या के कारण भी टायर पोर्टल सारण में ट्रांसफर हो जाने की संभावना प्रबल हो गई है। जमीन की कमी के कारण बिहटा एयरपोर्ट पर रनवे विस्तार में भी परेशानी हो रही है, जबकि अतिरिक्त जमीन उपलब्ध हाेने के कारण सारण में पैरेलल (समानांतर) रनवे बनाना भी संभव हो सकेगा ।

हालांकि, तुलनात्मक अध्ययन मे यह बात भी सामने आया कि बिहटा में रनवे के पहले से होने और निर्माण की योजना और डीपीआर भी बन जाने के कारण वहां दो से ढाई साल में सिविल एनक्लेव का निर्माण कार्य पूरा हो जाएगा । जबकि सारण में सब कुछ नये सिरे से होने के कारण वहां चार से पांच साल से भी अधिक लग जायेंगे।

You may have missed

You cannot copy content of this page