2 February 2023

बिहार : फिर से बंद हुआ बालू खनन – अब घर बनाना हुआ मुश्‍कि‍ल..

balu khanan

डेस्क : बिहार की राजधानी पटना, भोजपुर, रोहतास, कैमूर, गया व औरंगाबाद जिले में विगत 5 दिनों से चालान नहीं कटने की वजह से बालू खनन बंद है। इसका मुख्य कारण राज्य मुख्यालय से तकनीकी गड़बड़ी का होना बताया जा रहा है। जिले में अचानक बालू खनन बंद होने से बालू के मूल्य में अचानक 10 से 15 फीसदी का उछाल आ गया है। इसके बाद हजारों दैनिक मजदूर बेरोजगार हो गए हैं।

25 दिसंबर को बालू उठाव पूरी तरह होगा बंद

बालू बंदी से सीमेंट, छड़ और ट्रक का व्यवसाय भी प्रभावित भी हुआ है। बालू खनन बंद होने से जाम में राहत भी है। कोईलवर-छपरा और सकड्डी-नासरीगंज सड़क पर वाहनों का रेला भी नहीं दिख रहा। विभागीय सूत्रों के अनुसार 1 से 2 दिन और यह समस्या बने रहने की आशंका है। 25 दिसंबर से सभी घाट पर बालू उठाव भी बंद हो जाएगा। अगले साल जनवरी में नए सिरे से नीलामी भी होगी। ऐसे में आने वाले दिनों में बालू की किल्लत बढ़ने के भी आसार हैं।

भोजपुर के जिला खनन पदाधिकारी आनंद प्रकाश ने बताया कि 3 से 4 दिनों से तकनीकी गड़बड़ी के कारण बालू खनन बंद है, जल्द ही चालू करने का प्रयास विभाग द्वारा भी किया जा रहा है। सिर्फ भोजपुर जिले में 15 बालू घाटों से रोजाना बालू का खनन भी होता है। कोईलवर, संदेश, अगिआंव, तरारी और सहार