राम विलास पासवान छोड़ गए अपने बेटे के लिए 6 कम्पनिया और कई करोड़ों की विरासत

डेस्क : पिछली छह दफा कैबिनेट मंत्री रहे दिवंगत रामविलास पासवान अब इस दुनिया में नहीं रहे। बिहार की चुनाव छाया में बीते गुरुवार शाम को यह खबर आई जिसने सबको झकझोर कर रख दिया। रामविलास पासवान की तबीयत पिछले 1 महीने से खराब चल रही थी जिसके कारण उनका निधन हुआ। उनके द्वारा बनाई गई लोजपा पार्टी एनडीए से अलग होकर चुनाव लड़ रही है। राम विलास पासवान पिछले 50 साल से राजनीति में सक्रिय थे और वर्तमान में वह सक्रिय संसद के ऊपरी सदस्य थे।

विश्वसनीय स्रोतों के मुताबिक उनके पास चुनावी हलफनामे के तहत एक करोड़ 41 लाख से ज्यादा की संपत्ति है जिसमें 1.6 करोड रुपए की चल संपत्ति और 21.30 लाख के जेवर मौजूद है। उनके पास 42 लाख रुपए बैंक खाते में जमा है एवं 22 लाख रुपए की खेती की जमीन है। उसी के साथ 13 लाख रुपए की साधारण जमीन मौजूद है। रामविलास पासवान पटना की यूनिवर्सिटी से लॉ ग्रेजुएट हैं एवं उन्होंने एम् ऐ भी किया है। उनके पुत्र चिराग पासवान भी छह कंपनियों के मालिक हैं और उनके पास 1.84 करोड रुपए से ज्यादा की संपत्ति मौजूद है। चिराग पासवान जमुई से सांसद हैं और उनका अभी 90 लाख का बंगला पटना में स्थित है।

माय नेता इन्फो.कॉम के मुताबिक, उनके अंतिम चुनावी हलफनामे (लोकसभा चुनाव 2019) के पास 90 लाख का स्वयं अर्जित सम्पत्ति के रूप में 2009 में श्रीकृष्णा पुरी में खरीदा गया एक घर हैं जिसका भूखण्ड का क्षेत्रफल 5512 वर्ग फीट के करीब है। परन्तु मकान 3307 वर्गफीट में तैयार है। नकद 35 हजार रुपये हैं। एसबीआई गोपालपुर (जमुई) में एक लाख 22 हजार जमा हैं। एफडी के रूप में देखा जाये तो 11 लाख दिल्ली के सिंडिकेट बैंक में जमा है।. एसबीआई के संसद भवन शाखा में 10 लाख 86 हजार है। चिराग पासवान छह कंपनी के मालिक भी हैं हालांकि, कंपनी की संपत्ति का ब्यौरा उपलब्ध नहीं है, उनके उपर चकाई में एक मुकदमा दर्ज है। चिराग के पास 2015 मॉडल का एक जिप्सी और 2014 मॉडल का फॉर्चुनर है।