पटना में अब डीजल बस की जगह दौड़ेगी CNG बसें, नीतीश सरकार देगी इतने लाख का अनुदान, जानिए

न्यूज़ डेस्क: आज के समय में बढ़ते प्रदूषण एक बड़ी समस्या बनती जा रही है। इसके कारण कई है, परंतु डीजल से चलने वाली गाड़ियों से निकलने वाला धुंवा एक मुख्य कारण माना जाता है। ऐसे में पटना में परिवहन विभाग ने डीजल वाली मिनी बसों के परिचालन पर प्रतिबंध लगाने का निर्णय लिया है।

विभाग ने पटना नगर निगम में आने वाले क्षेत्रों में डीजल युक्त बसों को हटा सीएनजी बसों (CNG Bus) को चलाएगी। बतादें कि इस 24 सीटों के सीएनजी बसों को खरीदने हेतु 7.5 लाख रुपये की अनुदान राशि दिया जाना है। प्रथम चरण में पटना नगर निगम में 50 बसों के लिए जारी विज्ञप्ति में 43 बसों को मंजूरी दी गई है। शेष बचें 7 बसों के लिए पुनः आवेदन निकाल दिया गया। इसके लिए आवेदन लेने की अंतिम तारीख 10 जनवरी है।

परिवहन विभाग के सचिव संजय अग्रवाल ने कहा कि प्रत्येक बसें 24 सीटर होने के अलावा एक रंग व एक डिजाइन की रहेगी। पहले से चल रहे डीजल मिनी बसों को इस नवीन सीएनजी बसों का स्वीकृति पत्र जिला स्तर पर दिया जाना है। यह कार्य के परिवहन पदाधिकारी को सौंपा गया है।

आवेदन के लिए जरूरी कागजात: बता दें कि नए सीएनजी बसों को लेने लिए मिलने वाले अनुदान हेतु परिवहन विभाग को तारीखों की घोषणा के होते ही कई अहम डॉक्युमेंट्स जमा करने होंगे। इसके लिए आवेदन डीटीओ कार्यालय में देना है। इसके अलावा पहली वाली बसों का निबंधन प्रमाण पत्र भी जमा करना आवश्यक है। नए सीएनजी बस का कोटेशन, पुरानी बस की फिटनेस, वैध प्रमाण पत्र, पीयूसी प्रमाण पत्र, आधार प्रमाण पत्र और बैंक खाते का विवरण देना होगा।

ये भी पढ़ें   अब लाल ईंट का लाइसेंस मिलना हुआ बंद - महज 2 लाख निवेश से शुरू करें फ्लाई ऐश ईंट का बिज़नेस..

सावधान! डीजल बस चलाने पर लग जायेगा जुर्माना: पटना नगर निगम से सभी डीजल बसों को हटाकर सीएनजी बसों का संचालन जल्द शुरू होगा। पटना नगर निगम में सीएनजी बसों की खरीद के बाद डीजल बसों को किसी भी हाल में नहीं चलने दिया जाएगा। अगर कोई डीजल मिनीबस पटना नगर निगम को चलाते हुए पकड़ा जाता है, उस पर जम के जुर्माना लगेगा इसके लिए समय – समय पर जांच अभियान चलेगी।