बिहार वासियों के लिए नई सौगात, जल्द ही पटना से गुवाहाटी के बीच चलेंगी हाई स्पीड ट्रेन, 6 घंटे में होगा यात्रा समाप्त

Patna High Speed Train

डेस्क : रेलवे ने एक बार फिर बिहार वासियों के लिए नया तोहफा दे दिया है. जल्द ही पटना से गुवाहाटी के लिए हाईस्पीड ट्रेन के लिए हरी झंडी मिल सकती है. केंद्रीय बजट में इसके लिए सरकार ने विशेष प्रावधान किए हैं. बजट प्रावधानों के अनुसार यूपी व बिहार के इलाके बंगाल के रास्ते पूर्वोतर भारत से हाईस्पीड रूट से जुड़ेंग .बनारस से पटना होते गुवाहाटी तक के हाईस्पीड रूट से रेल यात्रियों का काफी समय बचेेगा

आखिरी कैसे बचेगा समय.. जो अभी वर्तमान समय में पटना से गुवाहाटी जाने के लिए करीब 20 घंटे लगते हैं. अब ऐसा माना जा रहा है कि पटना से गुवाहाटी के बीच की रफ्तार पांच से छह घंटे में तय हो सकेगी.पूर्व मध्य रेल के पूर्व जीएम और रेलवे मामलों के विशेषज्ञ मधुरेश कुमार ने कहा कि लगभग एक हजार किमी से अधिक की दूरी चंद घंटों में तय होने से यात्रियों के समय की बड़ी बचत होगी. पटना से गुवाहाटी की 886 किमी का सफर हाइस्पीड ट्रेन से तय होगा.

रेलवे के विशेषज्ञ मधुरेश कुमार डेडिकेटेड फ्रेट कॉरिडोर (डीएफसी) रेलवे को गेम चेंजर की तरह मान रहे हैं. उनके अनुसार भारतीय रेलवे के इतिहास में ऐसा पहली बार होने जा रहा है कि गुड्स व पैसेंजर के लिए अलग समानांतर रूट होगा. सोनपुर गोमो रेलखंड को डेडिकेटेड फ्रेट कॉरिडोर के रूप में विकसित किया गया है। डीएफसी रेलवे के ओवरऑल सिस्टम को बदल देगा. रेलवे बोर्ड के एक अधिकारी ने बताया कि भारतीय रेलवे के संदर्भ में पहले यह कांसेप्ट था कि कोई ऐसा रूट हो जिसपर हाईस्पीड में ट्रेन चलाई जाए. लेकिन अब बजट में इसपर सहमति दे दी गई है. इससे माल ढुलाई से लेकर यात्री ट्रेनों की पंक्चुअलिटी में 10 गुना तक इजाफा होगा.

आखिर क्या कहते हैं विशेषज्ञ…..पटना से गुवाहाटी के बीच हाईस्पीड ट्रेन चलाने का रास्ता साफ हो गया है. इससे बिहार समेत आधा दर्जन से अधिक राज्यों के करोड़ों लोगों को बड़ी सौगात मिलेगी. हाईस्पीड ट्रेनों से माल की ढुलाई में तेजी व राजस्व बढ़ोतरी से रेलवे भी मजबूत होगा. वहीं, यात्रियों के सफर की परिकल्पना भी बदल जाएगी. साथ ही रेलवे के सेफ्टी के लिए पूर्व मध्य रेल में बेहतर रिकॉर्ड को कायम रखने के लिए लगातार सिस्टम का रिनुअल जरूरी है.

You may have missed

You cannot copy content of this page