Friday, July 19, 2024
Bihar

Bihar पहुंचने पर अपनी मां और भाई से मिले Manish Kashyap, अब नहीं जाएंगे तमिलनाडु….

बिहार के चर्चित पत्रकार मनीष कश्यप (Manish Kashyap) को 130 दिनों के बाद आज (7 अगस्त) को बिहार के बेतिया कोर्ट में पेश किया गया। जहां कोर्ट द्वारा उसके तमिलनाडु भेजने पर रोक लगा दी गई। आपको बता दें कि उसे तमिलनाडु से कड़ी सुरक्षा के बीच बेतिया लाया गया था। बेतिया पहुंचने पर समर्थकों ने मनीष कश्यप (Manish Kashyap) का जोरदार तरीके से स्वागत किया। इस दौरान फूल भी बरसाए गए।

जानकारी के लिए आपको बता दें कि तमिलनाडु के मदुरई जेल में पिछले कई महीनों से बंद मनीष पर बेतिया के मझौलिया में SBI के शाखा प्रबंधक से बदसलूकी और सरकारी काम में बाधा डालने के आरोप लगे हैं। पुलिस के मुताबिक, मनीष पर आरोप है कि उसने जो वीडियो अपने यूट्यूब पर डाली वह दो राज्यों (बिहार और तमिलनाडु ) के बीच नफरत फैलाने वाली है। इसे लेकर मनीष कश्यप (Manish Kashyap) पर कानूनी प्रक्रिया के तहत कार्रवाई की गई है।

बता दे की आज जब मनीष कोर्ट पहुंचे तो हजारों की संख्या में उसके समर्थक कोर्ट परिसर के बाहर खड़े थे। साथ ही मनीष कश्यप जिंदाबाद के नारे भी लगा रहे थे। कोर्ट पेशी के बाद मनीष के सबके मां और भाई गले लग कर फफक कर रो पड़े। जिसके बाद से एक तस्वीर सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रही है।

आज बेतिया कोर्ट में क्या हुआ : 7 अगस्त को कोर्ट में मनीष की पेशी हुई है। पेशी के बाद मनीष के वकील ने मनीष कश्यप को बेतिया जेल में रखने का आग्रह किया। जिसका विरोध सरकारी वकील ने किया। फिलहाल, सीजेएम ने बेतिया जेल में ही मनीष कश्यप को रखने का आदेश दिया है।

सुमन सौरब

सुमन सौरब thebegusarai.in वेबसाइट में मार्च 2020 से कार्यरत हैं। लगभग 4 साल से डिजिटल मीडिया में काम कर रहे हैं। बिहार के बेगूसराय जिले के रहने वाले हैं। इन्होंने LNMU से स्नातक की डिग्री प्राप्त की है। अपने करियर में लगभग सभी विषयों (राजनीति, क्राइम, देश- विदेश, शिक्षा, ऑटो, बिजनेस, क्रिकेट, लाइफस्टाइल, मनोरंजन आदि) पर लेखन का अनुभव रखते हैं। thebegusarai.in पर सबसे पहले और सबसे सटीक खबरें प्रकाशित हों और सही तथ्यों के साथ पाठकों तक पहुंचें, इसी उद्देश्य के साथ सतत लेखन जारी है।