बिहार के इन 13 जिलों में बनेगा 328 कृषि यंत्र बैंक, किसानों को 80% तक मिलेगा अनुदान..जानें –

Krishi Yantra

न्यूज डेस्क: बिहार के किसानों के लिए एक राहत भरी खबर है। बिहार के मुख्यमंत्री ने किसानों को बड़ी सहूलियत देने जा रही है। खबर के अनुसार पटना और मगध प्रमंडल में 25 स्पेशल कस्टम हायरिंग सेंटर बनाए जा रहे है। जिससे हर किसान को 20 लाख तक के कृषि यंत्र मिलेंग और 80 प्रतिशत तक अनुदान पर दिए जाएंगे। इससे अधिकतम 12 लाख रुपये अनुदान मिलेगा।

यह योजना इसी रबी मौसम से शुरू किया जाएगा । तकनीकी प्रशिक्षण के लिए रबी मौसम में 40 हजार किसानों को राज्य के बाहर और बिहार के विभिन्न जिलों में खेती की बारीकियों को सिखाने-दिखाने और समझाने के लिए परिभ्रमण किया जाएगा।

इस योजना के अंतर्गत पुआल प्रबंधन के साथ मौसम अनुकूल खेती का समावेश करने का निर्देश पहले ही दे दिया गया । इसमे हर यंत्र पर 50 प्रतिशत से अधिक अनुदान देने का फैसला किया गया है। पर कोई विशेष परिस्थिति में पराली प्रबंधन से जुड़े यंत्रों पर अनुदान बढ़ाया जा सकता है । वही यह यंत्र बैंकों के लिए विभाग ने 80 प्रतिशत अनुदान की व्यवस्था भी की है।

ऐसे मिलेगा अनुदान: योजना के हिस्साब से कृषि सचिव की ओर से सभी योजनाओं में पराली प्रबंधन के साथ मौसम अनुकूल खेती का समावेश करने का निर्देश पहले दिया गया था । इसमे विभाग ने किसी भी यंत्र पर 50 प्रतिशत से अधिक अनुदान नहीं देने का फैसला किया है । लेकिन, सचिव के निर्देश के अनुसार विशेष परिस्थिति में पराली प्रबंधन से जुड़े यंत्रों पर अनुदान बढ़ाया जा सकता है ।

सूचना के अनुसार यंत्र बैंकों की स्थापना नवादा, कटिहार, बेगूसराय, शेखपुरा, अररिया, खगड़िया, पूर्णिया, औरंगाबाद, बांका, गया, जमुई, मुजफ्फरपुर, सीतामढ़ी में होगी। इनकी स्थापना किसान समूहों के माध्यम से की जाएगी। किसान समूहों आस पास के किसानों को कृषि उपकरण किराये पर दिए जाएंगे । इससे जितनी कमाई होगी वह किसान समूह की होगी। इससे छोटे किसानों को आसानी से कृषि-यंत्र उपलब्ध होगा और इनकी आमदनी में बढ़ोतरी होगी ।

You cannot copy content of this page