बिहार : सही माप तौल व गुणवत्तापूर्ण अनाज नहीं देने वाले डीलरों को बख्शा नहीं जायेगा, होगी प्राथमिकी दर्ज

Dealer

न्यूज डेस्क : सुबे में कोरोना महामारी के बीच जन वितरण प्रणाली का अनियमित ढंग से अनाज वितरण करने का मामला फिर से प्रकाश में आया है। विभिन्न जिले में लाभुक परिवारों के बीच खराब खाद्यान्न के वितरण पर सरकार एक्शन के मूड में आ गई है। इस संबंध में खाद्य एवं उपभोक्ता संरक्षण विभाग के सचिव विनय कुमार ने संबंधित जिलों के एसडीओ (SDO) को जिम्मेदार डीलरों पर तत्काल कार्रवाई करने का आदेश दिया है। साथ ही, खाद्य सचिव ने डीलरों को आगाह करते हुए कहा है कि खराब खाद्यन्न के वितरण की शिकायत मिलने पर प्राथमिकी दर्ज होगी। साथ ही अनाज वितरण में घटतौली, अनाज की गुणवत्ता में शिकायत , मनमानी और अनियमितता पर भी सख्त कार्रवाई की जाएगी।

जन वितरण प्रणाली की दुकान पर राशन गड़बड़ी मिलने पर तुरंत शिकायत करें: सचिव विनय कुमार सभी एसडीओ को एडवाइजरी जारी कर कहा है। कि यदि निर्धारित समय पर जन वितरण प्रणाली की दुकान पर उपस्थित नहीं मिलें। तो उन पर कार्रवाई करें। यही निर्देश पर्यवेक्षणीय अधिकारियों को भी देते हुए सचेत किया गया है। इस संबंध में विनय कुमार ने बताया खाद्यान्न वितरण में किसी प्रकार की मनमानी व लापरवाही बर्दास्त नहीं की जाएगी। पिछले साल ऐसे मामलों में प्रदेश में 694 डीलरों पर कार्रवाई की गई थी। इसमें 154 डीलरों के लाइसेंस को रद कर दिया गया था।

बिहार के इन जिलों के जन वितरण प्रणाली की दुकान पर हुई कार्रवाई: दरअसल, मधबुनी जिले के राजनगर प्रखंड के सुगौना उत्तरी पंचायत में डीलर द्वारा खराब खाद्यान्न और मिलावट का वीडियो वायरल होने पर संबंधित एसडीओ को तत्काल सख्त कार्रवाई करने और उसकी जांच रिपोर्ट मुहैया कराने का आदेश दिया गया है। इसी तरह की शिकायत मुजफ्फरपुर जिले के गाय घाट के डीलर के बारे में मिली थी। जिसके खिलाफ एसडीओ ने प्राथमिकी दर्ज कर पीडीएस दुकान का लाइसेंस निरस्त कर दिया गया है।

You cannot copy content of this page