बिहार को मिले 1605 नए दारोगा, पहली बार इतनी संख्या में बनी महिला दरोगा, सीएम ने लिया परेड की सलामी

Bihar Police

डेस्क : बिहार ने महिला सशक्तिकरण की एक बड़ी मिसाल पेश की है। राज्य के राजगीर पुलिस अकादमी से बृहस्पतिवार को पास आउट हुए 1586 दारोगा के बैच में कुल 619 महिला हैं। यह पूरे बिहार के लिए हर्ष का समय है राज्य में पहली दफा इतनी ज्यादा संख्या में महिला दरोगा बनी हैं। बड़ी बात ये है कि लगभग 27 साल उपरांत यहां परेड की सलामी मुख्‍यमंत्री द्वारा ली गई है। राज्य के सीएम नीतीश कुमार ने पासिंग आउट परेड की सलामी ली । बता दें कि इस से पहले 1994 में उस समय के मुख्‍यमंत्री लालू यादव द्वारा राजधानी पटना स्तिथ गांधी मैदान में दरोगा के पासिंग आउट परेड की सलामी ली गई थी।

राज्य में दूसरी बार इतनी भव्य परेड मालूम हो कि इस से पहले राजगीर के पुलिस अकादमी के उप निदेशक प्राणतोष दास ने। कहा कि आज से पूर्व राज्य में इतनी संख्या में पुलिस अधिकारियों को ट्रेनिंग देने की साधन उपलब्ध नहीं थी। बतादें कि 1994 बैच के राज्य के दरोगाओं की परीक्षण हरियाणा, पंजाब व हजारीबाग में हुई थी। परीक्षण के उपरांत सभी पुलिस अधिकारी पटना गांधी मैदान में एकत्रित हुए थे। जिसके बाद उस समय के मुख्यमंत्री लालू यादव के द्वारा पुलिस अधिकारियों की परेड की सलामी ली गयी थी। प्राणतोष आगे बताते है कि यह सब सब लिए गर्व की पल है, कि इस कोरोना में अपनी पुलिस अकादमी के द्वारा पूरे भारत के दो हजार सब-इंस्पेक्टर व 150 डीएसपी को परीक्षण दी गई है। मालूम हो कि सन 1994 के उपरांत यह बिहार में सबसे अधिक दारोगा का पासिंग आउट पैरेड हुआ है, इस परेड में 619 महिला अधिकारी शमिल हैं।

फोर्ट वाल से निकलते ही पदाधिकारी बन कर निकलेंगे प्रशिक्षण ले रहे प्रशिक्षु निदेशक प्राणतोष दास ने कहा कि परेड में फोर्ट वाल काफी महत्वपूर्ण होता है। कुल 1586 प्रशिक्षु दरोगाओं की परेड देख कर बृहस्पतिवार को कोई भी कोई रोमांचित हो उठे। बतादें कि कलेक्टर योगेंद्र सिंह, प्रभारी एसपी शिब्ली नोमानी सहित कई सारे पदाधिकारी सुरक्षा व्‍यवस्‍था को संभालने में मग्न र

You may have missed

You cannot copy content of this page