4 February 2023

Bihar में इथेनॉल फैक्ट्री बनकर तैयार- रोजाना 75 हजार लीटर होगा उत्पादन, जानें – कैसे मिलेगा रोजगार..

largest ethanol plant

डेस्क : बिहार के गोपालगंज की दूसरी इथेनॉल फैक्ट्री सिधवलिया में बनकर तैयार हो गयी है. 22 दिसंबर को मुख्यमंत्री नीतीश कुमार इसका उद्घाटन भी करेंगे. जिला प्रशासन और चीनी मिल प्रबंधन की तरफ से कार्यक्रम को लेकर अभी से तैयारी भी शुरू कर दी गयी है. मगध शुगर एनर्जी प्रा.लि. के AGM आशीष खन्ना ने बताया कि इथेनॉल फैक्ट्री पूरी तरह से बनकर अब तैयार हो गयी है. यहां से प्रतिदिन 75 हजार लीटर इथेनॉल का उत्पादन होगा. मुख्यमंत्री के हाथों इसका उद्घाटन किया जायेगा.

इथेनॉल फैक्ट्री में 18 मेगावाट बिजली का भी होता है उत्पादन

AGM ने कहा कि इथेनॉल फैक्ट्री में सैकड़ों मजदूरों को रोजगार भी मिला है. उन्होंने बताया कि चीनी मिल में पहले से 18 मेगावाट बिजली भी तैयार होती है. शुगर मिल और बिजली उत्पादन के साथ-साथ अब यहां एक और बड़ी उपलब्ध इथेनॉल फैक्ट्री के रूप में जुड़ चुकी है. वहीं, गोपालगंज जिले में पहले से बैकुंठपुर प्रखंड के राजापट्टी में सोनासती ऑर्गेनिक्स प्राइवेट लिमिटेड भी है, जिसमें ही ये इथेनॉल फैक्ट्री चलती है.

क्या है इथेनॉल, कहां होती है उपयोग

इथेनॉल एक प्रकार का एल्कोहल होता है, जिसे पेट्रोल के साथ एक निश्चित अनुपात में मिलाकर उपयोग किया जाता है. इथेनॉल का मुख्य स्रोत गन्ना है. इथेनॉल एक प्रकार का पर्यावरण अनुकूल ईंधन है, जो धुएं से निकलने वाले कार्बन मोनोऑक्साइडके उर्त्सजन को 35 प्रतिशत तक कम कर देता है. इसके उपयोग करने से नाइट्रोजन ऑक्साइड के उत्सर्जन में भी कमी आती है, इसलिए इथेनॉल को हम इको-फ्रेंडली या पर्यावरण अनुकूल भी कह सकते हैं.