बिहार में सियासी उलटफेर की आशंका: मांझी के बाद मुकेश सहनी ने भी लालू यादव से की बात, पूछने पर बोले….?

Mukesh Sahni

न्यूज़ डेस्क : इन दिनों बिहार की राजनीति गलियारों मे भूचाल मचा हुआ है। बता दें कि एनडीए में इन दिनों कुछ भी ठीकठाक नहीं चल रहा है। लगातार बयानबाजी शुरू है। सूत्रों की मानें तो राज्य में एनडीए की सरकार में जीतन राम मांझी और वीआईपी पार्टी के प्रमुख मुकेश सहनी इन दिनों पार्टी से असंतुष्ट चल रहे हैं। और इसकी साफ झलक उनकी राजनीतिक बयानबाजी से दिखाई दे रही है। बता दें कि शुक्रवार को लालू प्रसाद यादव के 74वें जन्मदिन पर उनके बड़े बेटे तेज प्रताप यादव जीतन राम मांझी से मिलने उनके आवास पर पहुंचे। बताया जा रहा है कि दोनों लोगों के बीच करीब 12 मिनट तक बात चित हुई। वही फिर शनिवार को वीआईपी पार्टी के प्रमुख मुकेश साहनी ने भी लालू यादव से बात की है। सबसे कन्फ्यूजन वाली बात यह है, कि जब उनसे इस संबंध में पूछा गया तो उन्होंने सीधे तौर पर कहा अभी इस बात को पर्दे पर ही रहने दीजिए।

ये है मुकेश साहनी का तंज: हाल ही के दिनों में वीआईपी पार्टी के प्रमुख मुकेश सहनी ने NDA पर तंज कसते हुए कहा था कि “एनडीए के नेताओं को अनावश्यक बयानबाजी की बजाय जनता से किए 19 लाख के रोजगार पर काम करने की सलाह दी है। उन्होंने अपने ट्विटर ‌हैंडल पर लिखा था “एनडीए गठबंधन के साथीगणों से अनुरोध है कि अनावश्यक बयानबाजी से बचें एवं हम सब मिलकर बिहार की जनता से किए गए 19 लाख रोजगार के वादे पर काम करें।”

मांझी ने भी बीजेपी पर निशाना साधा था: आपको बता दे की इन दिनों बीजेपी के लिए बहुत कुछ अच्छा नहीं चल रहा है। एनडीए में शामिल होने के बावजूद भी मांझी लगातार बीजेपी नेताओं पर राजनीतिक बयानबाजी कर रहे हैं। जब भी कोई बात बीजेपी नेताओं की तरफ से की जाती है तो वे तुरंत उस पर प्रतिक्रिया देते हैं। हाल ही में उन्होंन कहा था कि “दलित का बच्चा पढ़े तो नक्सली, और मुस्लिम का पढ़े तो आतंकी ऐसी मानसिकता नहीं चलेगी”

You cannot copy content of this page