पुराने ट्रेड के बदले बिहार में आने जा रहे है नए ट्रेड, छात्रों को दी जाएगी सोलर प्लेट की ट्रेनिंग – जानिए योजना के बारे में सब कुछ

bihar solar plate project

bihar solar plate project

डेस्क : सरकार भारत के युवाओं को रोजगार देने के लिए अलग-अलग तरीके अपना रही है। ऐसे में भारत सरकार ने सोलर प्रोजेक्ट लॉन्च किए हैं जिसके तहत वह भारत के नौजवानों को रोजगार देने का अवसर प्रदान करना चाह रही है।

बिहार राज्य सरकार ने भी एक नई पहल की है जिसके तहत श्रम संसाधन में नया व्यवसाय शुरू किया जाएगा। सोलर प्लेट को लगाने के लिए नए-नए स्तर पर विद्यार्थियों को परीक्षण दिया जाएगा। यह विद्यार्थी वही विद्यार्थी हैं जो आईटीआई में दाखिला लेकर पढाई करते हैं। अब जल्द ही भारत में सोलर का व्यवसाय शुरू हो जाएगा और इसको लेकर राज्य व्यवस्था भी शुरू हो जाएगी। सोलर सिटी का प्लान इसलिए लाया जा रहा है ताकि ज्यादा से ज्यादा बिजली की खपत को बचाया जा सके और प्राकृतिक तरीकों से बिजली का उत्पादन हो सके।

ऐसे में जो पुराने व्यवसाय चल रहे थे उनकी जगह नए व्यवसाय आजाएंगे। इसके तहत युवाओं को रोजगार मिलने की संभावना बेहद ही ज्यादा है। पुराने व्यवसाय में छात्रों की दिलचस्पी खत्म होती दिख रही थी। जिसके चलते अनेकों सीटें खाली हैं। सरकारी आईटीआई छात्रों को व्यवसाय में रोजगार मिलेगा जैसे इलेक्ट्रीशियन, एससीवीटी, वायरमैन, इलेक्ट्रोप्लास्ट, ड्राफ्ट्समैन, मैकेनिकल, प्रोडक्शन, कटिंग एंड सेविंग, मिनी ट्रैक्टर, अंग्रेजी स्टेनोग्राफर और हिंदी स्टेनोग्राफर आने वाले हैं। श्रम संसाधन विभाग के मंत्री का कहना है कि आईटीआई में सोलर प्लेट की ट्रेनिंग देना बिहार में रोजगार ला पाएगा।

You cannot copy content of this page