बेगूसराय के लाल आईआईटियन अर्श गौतम को शेयर बाजार की बड़ी कम्पनी ने दिया सबसे बड़ा पैकेज

Arsh Gautam

न्यूज डेस्क, बेगूसराय : बिहार में प्रतिभा की कमी नहीं है, कमी है तो बस वैसे संसाधनों की जहां उस प्रतिभा को निखार कर सामने लाया जाता है। एक बार फिर बिहार को स्वयं पर गर्व करने का मौका मिला है और ये मौका दिया है बेगूसराय जिले के लाल अर्श गौतम ने। बता दें कि बेगूसराय के अर्श गौतम आईआईटी (IIT) दिल्ली के छात्र हैं उन्हें शेयर बाजार की सबसे बड़ी कंपनी ने सबसे बड़ा पैकेज दिया है।

तो आप भी को लग रहा होगा ये तो वाकई गर्व महसूस करने का क्षण हम सभी बिहारवासियों के लिए हैं। आइए जाने कौन है अर्श गौतम जिन्होंने इतना बड़ा कारनामा कर इतिहास रचते हुए बिहार, बेगूसराय और खुद का माता पिता का नाम रौशन कर दिया है। आईआईटी में प्रवेश पाना ही सभी छात्रों का सपना होता है। जिसने यहां प्रवेश पाया उसने जिंदगी की सबसे बड़ी चुनौती उसी समय पार कर ली।मिली जानकारी के अनुसार अर्श गौतम आईआईटी के 2017 कि प्रवेश परीक्षा में 72 वां रैंक हासिल किया था उस वक़्त भी सभी को उन पर गर्व था और आज एक बार फिर से सभी का सीना गर्व से फूल गया है।

आईआईटी में दाखिला करने के बाद शुरू होती है जंग मालूम हो कि आईआईटी में दाखिला पाना ही सबकुछ नही होता असली परीक्षा तो इसके बाद शुरू होती है क्योंकि यही से शुरू होती छात्रों की कोशिश की किसी भी तरह उन्हें अच्छा पैकेज मिल जाए। अच्छा पैकेज मिलना उनके सपनों में उड़ान भरने जैसा होता है। उस पर सबसे बड़ा पैकेज ये सोने पर सुहागा वाली बात होती है। इस उपलब्धि को हासिल करने वाला और उसके परिजन तो गर्व करते ही हैं। साथ ही, ये उपलब्धि हजारों और विद्यार्थियों के लिए प्रेरणा का स्त्रोत बन जाता है।

अर्श गौतम बेगूसराय शहर से सटे बीएमपी – 8 राजापुर निवासी संवेदक अमिताभ राय और बबीता देवी के पुत्र हैं। फ़िलहाल अर्श आईआईटी दिल्ली के अंतिम वर्ष के छात्र हैं। उन्हें शेयर बाजार की सबसे बड़ी कंपनी मानी जाने वाली क्वाडाई कम्पनी ने सबसे बड़ा पैकेज देते हुए हायर किया है। माँ बबीता देवी के अनुसार अर्श बचपन से ही प्रतिभाशाली हैं उसकी आरम्भिक शिक्षा बरौनी रिफाइनरी डीएवी से हुई है। बोर्ड के बाद आगे की तैयारियों के लिए अर्श दिल्ली में रहते थे फ़िलहाल उन्हें सिर्फ क्वाडाई कम्पनी ने ही नहीं बल्कि कई और कम्पनी जैसे माइक्रोसॉफ्ट, गारवीटाआन जैसे कम्पनियों से भी ऑफर मिले हैं। जिसमें अर्श ने क्वाडाई कम्पनी के ऑफर को स्वीकार किया है।

अर्श के दादा जी स्व. जगदम्बी सिंह बरौनी रिफाइनरी से रिटायर्ड हुए हैं, पिता थर्मल में संवेदक है। अर्श की इस उपलब्धि से पूरा परिवार बेहद खुश है और उनके उज्जवल भविष्य की कामना करता हैं।

You cannot copy content of this page