झारखंड की मुस्लिम लड़की और बेगूसराय के हिंदू लड़के की वो प्रेम कहानी जिसने मजहब की दीवार तोड़कर रचाई शादी

Hindu Muslim Love

डेस्क : जहां एक तरफ देश में कुत्सित मानसिकता के लोगों द्वारा आम आवाम को धर्म सम्प्रदाय , जाति , मजहब में बांटने की असफल प्रयास की बात सामने आती रहती है , वहीं दूसरी तरफ एक मुस्लिम लड़की व हिन्दू लड़के की शादी लोगों के लिए मिसाल कायम किया है। कहा भी गया है, जब दो दिलों की आशिकी परवान चढ़ती है तो वह धर्म, जाति और मजहब नहीं देखती। प्यार में जब लोग लीन हो जाते हैं तो यह नहीं सोचते कि वह किस ऊँची पहाड़ पर चढ रहे है। ऐसा ही एक उदाहरण बेगूसराय में देखने को मिला।

जब मजहब की दिवार को झारखंड की एक मुसलमान लड़की और हिन्दू लड़के ने तोड़ दिया है। बता दें कि प्रेमी युगल ने बिहार के बेगूसराय के नौलखा मंदिर में शनिवार को शादी कर की । बताते चलें कि इस प्रेमी जोड़ा की कहानी किसी फिल्मी पटकथा से कम नहीं है, बल्कि यह एक अद्धभुत और अलग ही कहानी है। झारखंड की लड़की और बेगूसराय के लड़के के बीच हजारीबाग से शुरू हुई दोस्ती यह प्यार में तब्दील होकर जन्म जन्मांतर के बंधन में बंध गया। उक्त शादी में स्थानीय समाजिक संगठन जयमंगला वाहिनी ने अपने ओर से प्रेमी युगल को सहायता मुहैया कराया । इस शादी में लड़के के परिवार वाले आए थे। शादी को जयमंगला वाहिनी सामाजिक संगठन के बैनर तले पूरे रीति-रिवाज और रस्मों के साथ पूरा किया गया।

कोर्ट में भी हुई शादी , अब शाहेला परवीन बन गयी सोहन की शालिनी रीति रिवाज के साथ शादी के उपरांत विवाहित जोड़ा कोर्ट मैरिज की कागजी कार्यवाही के लिए आगे प्रस्थान कर गया। जब शादी हो रही थी तो कई अन्य संगठन के भी मौजूद लोग थे। दुर्गा वाहिनी के सदस्य अवनीश कुमार का कहना है कि लड़का जिसका नाम सोहन है उसने मोबाइल के जरिए अवनीश कुमार से संपर्क किया और कहा कि वे शादी करना चाहते हैं। जिसके बाद पूरे दुर्गा वाहिनी सदस्यों ने उसका समर्थन किया। यह शादी नौलखा मंदिर में संपन्न हुई है और जब से शादी हुई है तब से पूरे जिले में चर्चा का विषय बनी है। लड़की का नाम साहेला परवीन है। लोग एवं परिवार वाले उसे शालिनी बुलाते हैं।

झारखंड के हजारीबाग जिले की रहने वाली साहेला परवीन का अब नाम बदलकर शालिनी कुमारी हो गया है। वहीं लड़के का पूरा नाम सोहन कुमार है जो बेगूसराय जिले के फुलवरिया थाना क्षेत्र के निपानिया गांव का रहने वाला है। बता दें कि सोहन कुमार हजारीबाग में ही रहता था और वहां पर रहते हुए वह बैंकिंग का काम करता था। डेढ़ साल से उसका प्रेम प्रसंग लड़की साहेला परवीन उर्फ़ शालिनी कुमारी से चल रहा था।

खुश हैं प्रेमी जोड़ा , दोनों ने व्यक्त की भावना शादी के बाद दोनों प्रेमी जोड़ा काफी खुश है। इस दौरान लड़के के परिवार वाले शादी समारोह में हिस्सा लिया और जय मंगला वाहिनी के बैनर तले शादी संपन्न हुई । प्रेमी जोड़े ने बताया कि दोनों ने प्यार किया था प्यार के बाद शादी की है। लड़की ने कहा कि प्यार में जाति धर्म नहीं देखी जाती है उसे सोहन से प्यार हुआ और अब शादी की है उसके साथ रहेगी। सोहन ने बताया कि बैंकिंग के काम के दौरान साहेला परवीन से दोस्ती हुई थी जो प्यार में बदली और आज शादी की है। जाति धर्म से ऊपर उठकर दोनों शादी कर खुश हैं। बहरहाल हमलोगों के लिए एकबार फिर आज यह जानना जरूरी हो गया है कि धरती पर इंसानियत से बड़ा कोई भी चीज नहीं होती है। धर्म सम्प्रदाय जाति पाती से उपर उठकर लोगों को एक दूसरे इंसान की सुखदुख का भागी बनना चाहिए । द बेगूसराय का भी अपील है कि समाज में अंतरजातीय और अंतधार्मिक विवाह को उचित दर्जा दिया जाना चाहिए ।

You may have missed

You cannot copy content of this page